Iraq Protest: श्रीलंका की राह पर ईराक, संसद पर एक बार फिर प्रदर्शनकारियों ने किया हमला

श्रीलंका के तर्ज पर ही इस वक्त ईराक में भी वहां की मौजूदा सरकार के खिलाफ लोग सड़कों पर उतर आए है। बता दें ईराक में एक बार फिर से सैकड़ों प्रदर्शनकारियों ने शनिवार को प्रधानमंत्री के नामांकन के विरोध में दूसरी बार बगदाद में संसद भवन पर हमला कर दिया है। हालांकि इन प्रदर्शनकारियों में ज्यादातर शिया नेता मुक्तदा अल-सदर के समर्थक थे।  इससे पहले बुधवार को सैकड़ों प्रदर्शनकारियों ने बगदाद स्थित संसद पर धावा बोल दिया था। मीडियो रिपोर्ट्स के मुताबिक, प्रदर्शनकारी बड़ी संख्या में संसद परिसर में घुस गए और वहां तोड़फोड़ भी की थी। 

यह भी पढ़ें: Common Wealth Games: भारत की झोली में आया पहला सिल्वर मेडल, संकेत सरगर ने रचा इतिहास

श्रीलंका के तर्ज पर ईराक में सरकार का विरोध

खबरों के अनुसार ईराक में बुधवार की तरह ही शनिवार को भी प्रदर्शनकारियों ने संसद में इराकी झंडे और अल-सदर के फोटो लहराते हुए जमकर नारेबाजी की। दूसरी ओर सुरक्षा बलों ने प्रदर्शनकारियों को रोंकने और तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस, वाटर कैनन आदि का इंतजाम किया था, हालांकि सुरक्षाबल प्रदर्शनकारियों को रोंकने में विफल रहे। वहीं कई प्रदर्शनकारी ससंद में लगी मेजों पर चलते हुए, सांसदों की कुर्सियों पर बैठे और इराकी झंडे लहराते देखे गए। हालांकि संसद में कोई विधायक, सांसद मौजूद नहीं था। इस दौरान एक व्यक्ति को इराकी संसद के अध्यक्ष की मेज पर लेटा हुआ देखा गया।

संसद भवन में दूसरे दिन भी घुसे प्रदर्शनकारी

ईराक में संघीय चुनाव होने के बाद से यह सबसे बड़ा विरोध माना जा रहा है, और दूसरी बार शिया धर्मगुरु अल-सदर ने इस महीने अपने राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों को संदेश देने के लिए जनता को जुटाने की अपनी क्षमता का इस्तेमाल किया है। वहीं इससे पहले भी अल सदर ने सरकार के खिलाफ भीड़ जुटाई थी।

यह भी पढ़ें: Weather Report: मौसम की मार से किसान हो सकता है बदहाल, मौसम विभाग ने दिए चिंताजनक आंकड़े

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *