Advertisement

दलितों को रिझाने के लिए नई-नई तिकड़म अपना रही बीजेपी- उमेश सिंह

Umesh to Ambedkar samagam

Umesh to Ambedkar samagam

Share
Advertisement

Umesh to Ambedkar Samagam: बिहार जेडीयू के प्रदेश अध्यक्ष उमेश सिंह कुशवाहा ने भाजपा के ‘अंबेडकर समागम’ को निशाने पर लिया। उमेश सिंह कुशवाहा ने कहा कि 2024 के लोकसभा चुनाव में अब कुछ महीने ही शेष है इसलिए भारतीय जनता पार्टी दलितों को रिझाने के लिए नई-नई तिकड़म अपना रही है। उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा का अंबेडकर प्रेम सिर्फ़ राजनीतिक दिखावा है। जो राजनीतिक दल संविधान और आरक्षण को मिटाने की बात कहता है उसे डॉ भीमराव अंबेडकर के नाम पर कार्यक्रम करने का कोई नैतिक अधिकार नहीं है।

Advertisement

‘बीजेपी का इतिहास संविधान और आरक्षण विरोधी’

उन्होंने कहा, भारतीय जनता पार्टी का राजनीतिक इतिहास शुरू से ही संविधान और आरक्षण विरोधी रहा है। बिहार सरकार जब दलितों को सशक्त करने के लिए जातीय गणना का निर्णय लेती है तो भाजपा के लोग इसके खिलाफ न्यायालय में याचिका दायर करते हैं।

Umesh to Ambedkar Samagam: ‘दलित हित में नहीं किया कोई काम’

उमेश सिंह कुशवाहा ने कहा कि सावरकर को अपना वैचारिक और राजनीतिक आदर्श मानने वाली भारतीय जनता पार्टी डॉ भीमराव अंबेडकर की क़भी हितैषी नहीं हो सकती है। देश का दलित समाज भी इस बात से भलीभांति परिचित है। उमेश सिंह कुशवाहा ने कहा कि बीते 10 वर्षों से भारतीय जनता पार्टी की केंद्र में सरकार है लेकिन इन 10 वर्षों में देश के दलित समाज के लिए भाजपा ने एक भी काम नहीं किया।

‘दलित समाज को गुमराह नहीं कर पाएगी बीजेपी’

वह बोले, यह बात भी जगजाहिर है कि भाजपा शासित प्रदेशों में दलितों पर लगातार शोषण और अत्याचार होते रहे हैं। भाजपा दलितों को अपना राजनीतिक वोट बैंक समझने की भूल न करे क्योंकि अब देश का दलित राजनीतिक रूप से जागरूक हो चुका है। गलत-सही के बीच के फ़र्क़ को परखने लगा है। भाजपा चाहे जितनी मर्ज़ी जोरआजमाइश कर ले अब दलित समाज को गुमराह करने का प्रयास सफल नहीं होगा।

प्रथम उप-महापौर के निधन पर जताया शोक

दरभंगा नगर निगम के प्रथम उप-महापौर सह जेडीयू प्रदेष सचिव मोहम्मद एहसान उल हक के निधन पर पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष उमेश सिंह कुशवाहा ने गहरा शोक जताया। उमेश सिंह कुशवाहा ने कहा कि मो एहसान उल हक का इंतकाल राजनीतिक और सामाजिक क्षेत्र में एक अपूर्णीय क्षति है। पार्टी के नेता के तौर पर उनका योगदान हमेशा स्वर्ण अक्षरों में अंकित रहेगा। दरभंगा के उप मेयर रहते हुए भी उन्होंने जनसेवा को पहली प्राथमिकता दी। उन्होंने हमेशा समाज को नई दिशा देने का काम किया।

रिपोर्टः सुजीत श्रीवास्तव, ब्यूरोचीफ, बिहार

ये भी पढ़ें: Bihar: लोकतंत्र विरोधी भाजपा को रोकना इंडी गठबंधन का लक्ष्य- मदन सहनी, जेडीयू

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *