भारत की जीडीपी ग्रोथ को RBI के बाद अब World Bank ने भी दिया झटका, ग्रोथ अनुमान को घटाया

भारत की जीडीपी ग्रोथ

चालू वित्त वर्ष में भारत की इकोनॉमी (Indian Economy) की रफ्तार में सुस्ती रह सकती है। केंद्रीय रिजर्व बैंक (RBI) के बाद अब World Bank ने भी देश की जीडीपी ग्रोथ अनुमान को घटा दिया है। विश्व बैंक ने देश की जीडीपी ग्रोथ अनुमान को 8.7 फीसदी से घटाकर 8 फीसदी कर दिया है।

बता दें कि बीते दिनों अपनी मौद्रिक समीक्षा बैठक में भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने जीडीपी ग्रोथ अनुमान कम कर दिया था। चालू वित्त वर्ष के लिए आरबीआई ने जीडीपी ग्रोथ रेट अनुमान को 7.2 प्रतिशत रखा था। जबकि इससे पहले केंद्रीय बैंक ने 7.8 प्रतिशत जीडीपी ग्रोथ रहने का अनुमान जताया गया था।

अब केंद्रीय बैंक के बाद विश्व बैंक ने भी भारत की जीडीपी ग्रोथ रेट को घटा दिया है। इसके लिए बढ़ती महंगाई को जिम्मेदार माना गया है। इसकी वजह से इकोनॉमी के ग्रोथ पर ब्रेक लगने का अनुमान जताया गया है। इसकी मुख्य वजह रूस-यूक्रेन जंग को भी बताया गया है। इसकी वजह से आपूर्ति सेवाओं में बाधाएं आई है और इससे महंगाई बढ़ने की वजह बताया है।

दूसरे देशों के लिए भी विश्व बैंक ने कटौती की है। अफगानिस्तान के लिए नया जीडीपी ग्रोथ का अनुमान 6.6 फीसदी लगाया गया है। मालदीव की जीडीपी ग्रोथ को विश्व बैंक ने 11 फीसदी से घटाकर 7.6 फीसदी कर दिया है। इसके लिए जीवाश्म ईंधन के बड़े आयात और रूस-यूक्रेन से पर्यटन आगमन में कमी का हवाला दिया गया है। हालांकि आर्थिक संकट से जूझ रहे श्रीलंका के लिए राहत भरी उम्मीद है। वर्ल्ड बैंक ने श्रीलंका की जीडीपी अनुमान को 2.1 फीसदी से बढ़ाकर 2.4 फीसदी कर दिया है।

ताजा खबरें

Oppo के इस धांसू स्मार्टफोन में यूजर्स को मिलेगा 120Hz डिस्प्ले और 50MP कैमरा

रूस-यूक्रेन युद्ध: G-7 से भारत को बाहर रखने का विचार कर रहा जर्मनी?

रूस-यूक्रेन युद्ध: बंदूक की नोक पर बर्बरता, उतरवाए कपड़े, फिर किया बेहरहमी से रेप

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.