रूस-यूक्रेन युद्ध: बंदूक की नोक पर बर्बरता, उतरवाए कपड़े, फिर किया बेहरहमी से रेप

रूस-यूक्रेन युद्ध

रूस-यूक्रेन युद्ध में अब भयानक मानवाधिकार उल्लंघन की तस्वीर सामने आ रही है। यूक्रेन की कई महिलाओं के साथ ब्लात्कार की घटनाएं रिपोर्ट की गई है। रूसी सैनिकों पर आरोप है कि युद्ध की विभीषिका के बीच बंदूक की नोक पर महिलाओं और लड़कियों की कपड़े उतरवाए गए और उनका रेप किया गया।

हालांकि यूक्रेन की राजधानी कीव सहित कई इलाकों से रूसी सेना अब पीछे हट रही है। लेकिन इन सबके बीच जो पीछे छूट रहा है, वह ऐसा घाव है जो शायद फिर कभी नहीं भर पाए। इस युद्ध में कई परिवार उजड़ चुके हैं। जो परिवार जिंदा बच गए हैं वो सदमे में हैं।

बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार, एक 50 वर्षीय महिला के घर में 7 मार्च को विदेशी सैनिक घुस आया। महिला ने कहा कि बंदूक की नोक पर वह मुझे बगल के एक कमरे में ले गया। उसने मुझसे कहा कि अपने कपड़े उतारो नहीं तो गोली मार दूंगा। इसके बाद उसने मेरा रेप किया।

रिपोर्ट के अनुसार, महिला ने कहा, ‘जब वह मेरा रेप कर रहा था तो चार अन्य सैनिक वहां आ गए। मुझे लगा कि आज मैं गई…लेकिन वे उसे वहां से ले गए। मैंने उसे दोबारा कभी नहीं देखा।’ जब वह महिला घर लौटी तो उसके पति को गोली लगी हुई थी। महिला ने बीबीसी को बताया कि मेरे पति मुझे बचाने के लिए मेरे पीछे दौड़े लेकिन उन्हें गोली मार दी गई।

उसके बाद महिला और उसके पति घायल अवस्था में पड़ोस के घर में छिप गए। वह अपने पति को अस्पताल नहीं ले जा सकी। दो दिनों बाद उसके पति की मौत हो गई। बीबीसी को अपनी कहानी बताते हुए वह रो पड़ी।

रिपोर्ट के अनुसार, महिला को बचाने वाले सैनिक कुछ दिनों तक उसके घर में रहे। जब वे गए तो वहां ड्रग्स और वियाग्रा मिला। महिला ने कहा, ‘वे ड्रग्स लेते थे और शराब पीते थे। उनमें से ज्यादातर हत्यारे, बलात्कारी और लुटेरे थे। सिर्फ कुछ ही सैनिक ठीक थे।’

यह भी पढ़ें- रूस-यूक्रेन युद्ध: G-7 से भारत को बाहर रखने का विचार कर रहा जर्मनी?

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.