विजय दिवस से पहले रूस के लिए बुरी खबर, मार दिया गया 39वां कर्नल

आज मास्को में अपने विजय दिवस (Victory Day) सैन्य समारोह से पहले अपने 39वें कर्नल फजुल बिचिकाएव को खो दिया है। कर्नल फजुल (Fezul Bichikaev)
बिचिकाएव एक फाइटर पायलट थे।

Share This News
विजय दिवस

यूक्रेन युद्ध का आज 75वां दिन दिन है और आज 9 मई है, रूस का विजय दिवस (Victory Day) है। लेकिन इससे पहले रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन Vladimir Putin को एक और गंभीर झटका लगा। आज मास्को में अपने विजय दिवस सैन्य समारोह से पहले अपने 39वें कर्नल को खो दिया है। 36 साल के लेफ्टिनेंट-कर्नल फजुल बिचिकाएव (Fezul Bichikaev) एक फाइटर पायलट थे और उनकी मृत्यु हो गई है, यूक्रेन में एक गुप्त खुफिया मिशन पर मृत्यु हो गई थी।

यूक्रेन युद्ध का आज 75वां दिन दिन है और आज 9 मई है, रूस का विजय दिवस। लेकिन, जो हालात बने हैं, उसे देखकर ये कहना मुश्किल है, कि रूस को यूक्रेन युद्ध में विजय हासिल होने वाली है। क्योंकि, अब ये लड़ाई रूस को काफी ज्यादा भारी पड़ने वाली है। वहीं अभी तक रूस के 39 कर्नल मारे जा चुके हैं।

रूसी मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, तीन बच्चों के पिता बिचिकाएव को एक नायक के रूप में चित्रित किया जा रहा है, जो खारकीव के पास यूक्रेनी सैनिकों से संघर्ष के दौरान मारे गये हैं। रिपोर्ट के मुताबिक, बिचिकाएव के सीने पर गोलां लगी थीं, लेकिन फिर भी उन्होंने अपने सैनिकों को आगे बढ़ने और लड़ने का आदेश दिया था, कबकि वो बुरी तरह से घायल हो गये थे।

रूसी मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया है कि, वह रूस के सबसे कम उम्र के कर्नलों में से एक थे, उनकी रेजिमेंट की कमान दूसरे स्थान पर थी, और उनकी मृत्यु रूस के लिए ‘एक भारी, अपूरणीय क्षति’ थी। आज उनका अंतिम संस्कार किया जा रहा। फजुल बिचिकाएव की मौत डोनबास में 44 वर्षीय लेफ्टिनेंट-कर्नल फ्योडोर सोलोविओव (Fyodor Solovyov) की मौत के खुलासे के एक दिन बाद हुई है। सोलोविओव व्लादिमीर पुतिन के यूक्रेन युद्ध में 38 वें कर्नल थे। उनको भी पूरे सैन्य सम्मान के साथ दफनाया गया था। वह 127 मोटर चालित राइफल डिवीजन के होवित्जर स्व-चालित तोपखाने रेजिमेंट के कमांडर थे।

वहीं 24 अप्रैल, 2022 को यूक्रेन में व्लादिमीर पुतिन के विशेष सैन्य अभियान में लेफ्टिनेंट कर्नल एडुआर्ड दिमित्रीव की मृत्यु हो गई थी। लेफ्टिनेंट कर्नल फ्योडोर सोलोविओव की मृत्यु डोनबास में हुई, उन्हें पेन्जा क्षेत्र में दफनाया गया था। वह 24 फरवरी से यूक्रेन में मरने वाले 38वें रूसी कर्नल थे।

यह भी पढ़ें: Ukraine Russia War: UNHRC से रूस को दिखाया बाहर का रास्ता, 93 देशों ने की वोटिंग, भारत ने नहीं लिया हिस्सा

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *