Russia Ukraine War: अमेरिकी प्रतिबंधों से बचने का रूस ने निकाला तरीका, उल्टे अमेरिका को लगेगा झटका

रूस में पायरेसी कानून

रूस और यूक्रेन के बीच जंग (Russia Ukraine War) जारी है। कई पश्चिमी देशों ने रूस पर आर्थिक प्रतिबंध लगाए हैं। लेकिन रूस ने इस आर्थिक प्रतिबंध का मुकाबला करने के लिए इसका तोड़ निकाल लिया है। रूस के इस निर्णय से अमेरिकी प्रतिबंधों का कोई खास असर रूस नहीं पड़ने वाला है।

रूसी अखबार रोजिस्काया गैजेटा की रिपोर्ट के मुताबिक, रूस ने अपने यहां इंटलेक्चुअल प्रॉपर्टी राइट से जुड़े नियमों को कमजोर कर दिया है। ऐसा होने से रूस अब बड़ी आसानी किसी कंपनी के प्रॉडक्ट की कॉपी कर सकता है। यानी रूस ने पायरेसी को कानूनी मान्यता दे दी है।

रिपोर्ट के मुताबिक, रूस अब पश्चिमी देशों की कंपनियों के प्रॉडक्ट को पेटेंट होल्डर्स के अनुमति के बिना कॉपी कर सकता है। वहीं, किसी भी देश की इंटलेक्चुअल प्रॉपर्टी (बौद्धिक संपदा) को राइट्स का पैसा दिए बिना ही उसका इस्तेमाल भी कर सकता है।

अब रूस में दूसरे देशों की फिल्म, गेम, टीवी शो और साफ्टवेयर के लिए संबधित कंपनी या संस्था को भुगतान करना जरूरी नहीं होगा। इस ढील के बाद रूस अमेरिकी प्रतिबंधों से मुकाबला करने में सक्षम हो सकेगा।

क्या होता है इंटलेक्चुअल प्रॉपर्टी राइट?

बता दें कि इंटलेक्चुअल प्रॉपर्टी राइट एक तरह का कानूनी अधिकार होता है जो किसी तकनीक, खोज, सेवा या डिजाइन को इस्तेमाल के एवज में उसे बनाने वाली कंपनी को भुगतान किया जाता है। दूसरे शब्दों में किसी प्रॉडक्ट को बनाने वाली कंपनी का एकाधिकार उस प्रॉडक्ट पर रहता है।

इंटलेक्चुअल प्रॉपर्टी राइट के तहत आने वाली किसी भी वस्तु, डिजाइन या कॉपीराइट का उपयोग करने के लिए इससे जुड़ी संस्था, कंपनी या व्यक्ति को भुगतान करना जरूरी होता है।

रूसी मंत्रालय ने किया पहल

रूस की इकोनॉमिक डेवलपमेंट मिनिस्ट्री ने पश्चिमी देशों के प्रतिबंधों से बचने के लिए इसी हफ्ते पायरेसी कानून में छूट देने का प्रस्ताव रखा था। मंत्रालय के अनुसार, कई वस्तुओं और सर्विसेस के इंटलेक्चुल प्रॉपर्टी राइट्स से बैन हटाने की संभावना के बारे में विचार किया गया।

मंत्रालय की तरफ से कहा गया कि इनमें इन वस्तुओं पर छूट दी जाएगी, जिसकी रूस में कमी है। इससे रूस ने इन वस्तुओं की पायरेसी आसान हो जाएगी और इसकी कमी को दूर किया जा सकेगा।

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.