Ukraine Russia War: UNHRC से रूस को दिखाया बाहर का रास्ता, 93 देशों ने की वोटिंग, भारत ने नहीं लिया हिस्सा

पुतिन

पुतिन

रूस और यूक्रेन के बीच चल रहे युद्ध के बीच UNGA में वोटिंग हुई. जिसमें भारत ने हिस्सा नहीं लिया. बता दे कि इस बीच UNHRC से रूस को बेदखल किया गया. जिसमें 93 देशों ने वोटिंग की. भारत समेत 58 देशों ने वोटिंग में हिस्सा नहीं लिया. इसके अलावा 24 देशों ने प्रस्ताव के खिलाफ वोटिंग कर अमेरिका के फैसले को गलत साबित किया.

अमेरिका ने रखा प्रस्ताव

आपको बता दे कि, रूस को संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद UNHRC से बेदखल करने का प्रस्ताव अमेरिका ने रखा. जो संयुक्त राष्ट्र महासभा UNGA में पास भी हो गया. मालूम हो कि यूक्रेन Ukraine की राजधानी कीव के उपनगर बूचा से सामने आई नागरिकों के शवों की भयावह तस्वीरों और वीडियो के बाद अमेरिका की राजदूत लिंडा थॉमस-ग्रीनफील्ड ने रूस को मानवाधिकार परिषद से हटाने के लिए UNGA में विशेष बैठक बुलाई थी.

ये भी पढ़े- Pakistan Crisis: इमरान खान पर पाक SC ने फेंका ‘बाउंसर’, कहा- अविश्वास प्रस्ताव पर होगी वोटिंग

UNGA में पास हुआ प्रस्ताव

बैठक के बाद ही अमेरिका ने इस प्रस्ताव को पास कराया. जिसमें दुनिय़ा के कई ताकतवर देशों ने इसका विरोध किया. जिसमें भारत भी शामिल रहा. भारत समेत 58 देश वोटिंग में हिस्सा नहीं ले पाए और 24 देशों ने इस प्रस्ताव का विरोध भी किया है.

वोटिंग से भारत बना रहा दूरी

आपको बहता दे कि यूक्रेन पर रूसी हमले के दौरान ही अमेरिका, ब्रिटेन और यूरोपीय देशों द्वारा संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद, महासभा और मानवाधिकार परिषद में अलग-अलग मौकों पर रूस के खिलाफ अब तक 10 प्रस्तावों को पेश किया जा चुका है. इन सभी प्रस्तावों पर वोटिंग के दौरान भारत ने हिस्सा नहीं लिया था.

दो हिस्सों में बटी दुनिया

गौरतलब है कि, यूक्रेन में हुए नरसंहार ने पूरी दुनिया को दो हिस्सों में बांट दिया है. बड़ा हिस्सा रूस के खिलाफ है और एक छोटा हिस्सा उसके साथ है. दुनिया के ज्यादातर देश कई तरह की प्रतिबंध लगाकर रूस को अलग-थलग करने करने के अभियान में लगे हुए है. जिसमें सबसे बड़ी जिम्मेदारी अमेरिका निभा रहा है. अमेरिका एक के बाद एक फैसले रूस के खिलाफ लेता जा रहा है.

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.