Advertisement

सोमवार से शुरू होगा श्रावण मास, सोमवार को ही होगा समापन, बना रहा शुभ संयोग

Shravan Mass
Share
Advertisement

Shravan Mass : चहुंओर हरियाली और प्राकृतिक सुदंरता का विहंगम दृश्य. सावन का महीना अपने आप में प्रकृति को समर्पित है. इस महीने भगवान भोलेनाथ की आराधना का विशेष महत्व है. मान्यता है कि सावन महीने भगवान शिव को जल अर्पित करने से मनोकामनाओं की पूर्ति होती है. इस बार सावन का महीना य़ा श्रावण मास 22 जुलाई से शुरू हो रहा है. जोकि 19 अगस्त तक चलेगा.

Advertisement

इस बार श्रावण मास में अद्भुत संयोग बन रहा है. 22 जुलाई यानि श्रावण मास का पहला दिन ही सोमवार है. ज्योतिषाचार्यों के अनुसार यह संयोग बहुत ही शुभकारी और कल्याणकारी है. बताया गया कि इस दिन यदि सच्चे मन से भगवान की शिव की पूजा की जाए तो भक्तों की मनोकमानाएं पूर्ण होती हैं. वहीं श्रावण मास का आखिरी दिन यानि 19 अगस्त को भी सोमवार ही है. ऐसे में श्रावण मास का आरंभ और समापन सोमवार को होगा. ज्योतिषाचार्यों के अनुसार यह बहुत ही शुभ संयोग है.

श्रावण मास में वातावरण भक्तिमय रहता है. सनातनी भगवान शिव की आराधना करते हैं. उन्हें भांग, धतूरा, दूध, पंचामृत, जल, बेलपत्र, मिष्ठान आदि अर्पित करते हैं. 22 जुलाई को इस बार सावन श्रवण नक्षत्र और प्रीति योग में शुरू हो रहा है. जोकि बहुत शुभकारी संयोग है. श्रवण नक्षत्र के स्वामी चंद्रमा हैं. इसलिए इस नक्षत्र में सोमवार के दिन भगवान शिव का जलाभिषेक अत्यंत कल्याणकारी माना जाता है. वहीं 27 योगों में से एक प्रीति योग भी अत्यंत शुभ माना जाता है. मान्यता है कि इस योग में किए गए शुभ कार्यों से मान-सम्मान मिलता है. यह योग विवाद निपटाने और समझौता कराने में भी काफी शुभ होता है.ऐसे में श्रवण नक्षत्र और प्रीति योग का संयोग सावन के पहले सोमवार को अति शुभ है.

इस बार सावन का पहला सोमवार शिक्षा ग्रहण करने वाले बच्चों के लिए भी शुभ है. वहीं बताया गया कि ऐसे जातक जिनके विवाह में देरी हो रही है. वह इस दिन भगवान शिव की आराधना करें तो उनके विवाह में आ रही बाधाएं भी समाप्त हो जाएंगी. मान्यता है कि यह मास भगवान विष्णु द्वारा वरदान प्राप्त माह है. इस महीने भगवान शिव की आराधना विशेष फलदायी है. वहीं इस बार श्रावण मास में पूरे पांच सोमवार पड़ रहे हैं.

यह भी पढ़ें : Haryana : बाइक सवार तीन शूटर्स ने की JJP नेता की गोली मारकर हत्या

Hindi Khabar App: देश, राजनीति, टेक, बॉलीवुड, राष्ट्र,  बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल, ऑटो से जुड़ी ख़बरों को मोबाइल पर पढ़ने के लिए हमारे ऐप को प्ले स्टोर से डाउनलोड कीजिए. हिन्दी ख़बर ऐप

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *