Advertisement

‘‘हमें लड़ाइए मत…’’ पायलट के साथ सत्ता की खींचतान के बीच CM गहलोत

CM गहलोत

CM गहलोत

Share
Advertisement

अपने पूर्व डिप्टी सचिन पायलट के साथ नेतृत्व को लेकर चल रही खींचतान के बीच राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सोमवार को कहा कि मीडिया को लोगों को लड़ाना नहीं चाहिए। यहां पत्रकारों को संबोधित करते हुए उन्होंने जोर देकर कहा कि राज्य में कांग्रेस का चुनाव अभियान उनकी सरकार द्वारा शुरू की गई योजनाओं और कार्यक्रमों पर केंद्रित होगा। दिग्गज कांग्रेस नेता ने पिछले पांच वर्षों में किए गए कार्यों के आधार पर अपनी सरकार के सत्ता में लौटने का भरोसा भी जताया।

Advertisement

दिसंबर 2018 में राजस्थान में कांग्रेस की सरकार बनने के बाद से ही दोनों के बीच मुख्यमंत्री पद को लेकर विवाद चल रहा है। हाल ही में, पायलट ने गहलोत के खिलाफ एक दिन का उपवास रखकर एक और मोर्चा खोल दिया, जिसमें आरोप लगाया गया कि राज्य सरकार ने वसुंधरा राजे के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार के कार्यकाल के दौरान कथित भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई नहीं की, जैसा कि 2018 के विधानसभा चुनावों से पहले वादा किया गया था। गहलोत ने हालांकि पायलट के हमले पर कोई सीधी प्रतिक्रिया नहीं दी है।

सोमवार को उन्होंने बिना किसी का नाम लिए कहा कि मीडिया को लोगों को लड़ाना नहीं चाहिए।

गहलोत ने कहा “मीडिया को सच्चाई और तथ्यों पर टिके रहना चाहिए? मीडिया को हमें आपस में नहीं लड़ना चाहिए। उन्हें (मीडियाकर्मियों को) अपना कर्तव्य निभाना चाहिए और यह जनहित में है? मीडिया को इस आधार पर दोहराने में सरकार का समर्थन करना चाहिए।”

गहलोत ने संवाददाताओं से कहा, “मैं यह नहीं कहता कि ‘झूठे आंकड़े पेश करो या हमारी झूठी प्रशंसा करो’ लेकिन मैं चाहूंगा कि मीडिया सच्चाई के आधार पर चले। मीडिया केंद्र सरकार के दबाव में है लेकिन उन्हें जनता का हित देखना चाहिए।”

ये भी पढ़े:Chhattisgarh: आजादी के बाद से पुल के निर्माण की मांग कर रहे ग्रामीण, हुआ लोकार्पण

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

अन्य खबरें