Advertisement

खुन्नस के नाम पर दरिंदगी: युवती से गैंगरैप, तीन आरोपी हिरासत में

Gangrape in Parihara

Gangrape in Parihara

Share
Advertisement

Gangrape in Parihara: प्यार के नाम पर दरिंदगी की एक घटना बिहार में सामने आई थी। युवती का कसूर सिर्फ इतना कि उसने मां-बाप की मर्जी से शादी कर ली। इसके बाद भी उसके कथित पूर्व प्रेमी ने उससे बातचीत चालू रखी। इसके बाद उसे बहलाफुसलाकर अपने साथ अन्य जगह ले गया। यहां युवती के साथ गैंगरेप किया गया। आरोपी ने जुर्म कबूल करते हुए बताया कि उसने ऐसा इसलिए किया क्योंकि युवती की शादी उससे नहीं हो पाई। उसे इस बात की खुन्नस थी।

Advertisement

Gangrape in Parihara: परिहारा गांव में दिया घटना को अंजाम

आरोपी और पीड़िता दोनों खगड़िया जिले के बेलदौर के रहने वाले हैं। वहीं घटना बेगुसराय के बखरी थाना क्षेत्र के परिहारा ओपी अंतर्गत परिहारा गांव में घटित हुई है। परिजनों का आरोप है कि युवक युवती का अपहरण करके उसे अपने साथ परिहारा गांव ले गया। यहां युवती के साथ गैंगरेप किया गया लेकिन जब गिरफ्तार किए गए मुख्य आरोपी ने जुर्म की वजह बताई को हर कोई स्तब्ध रह गया।

Gangrape in Parihara: युवती को वैश्यावृत्ति में धकेलना चाहता था कथित प्रेमी

बेगूसराय के एसपी योगेंद्र कुमार के अनुसार पीड़िता ने गैंगरेप का आरोप लगाया है। तीन आरोपी पुलिस गिरफ्त में हैं। मुख्य आरोपी और कथित प्रेमी संतोष ने बताया कि वह युवती से शादी करना चाहता था लेकिन उसने मां-बाप की मर्जी से शादी कर ली। इससे वह खुन्नस में था। वह युवती को वेश्यावृत्ति में धकेलना चाहता था।

Gangrape in Parihara: बहन के घर ले जाने की बात कहकर लाया था

एसपी ने बताया कि इसी प्लान के अनुसार संतोष युवती को यह कहकर परिहारा लाया कि उसकी बहन परिहारा में रहती है। उसने युवती को वहां ले जाकर उसने एक मकान में अपने दोस्तों के हवाले कर दिया। वहां इन लोगों ने युवती के साथ दरिंदगी की। शुक्रवार की दोपहर इस घटना की सूचना मिलने पर पीड़िता के साथ थाना परिहारा ओपी प्रभारी घटनास्थल पर पहुंचे। संतोष ने अन्य आरोपियों के नाम आकाश, भोला, नीतीश, संजीव और छोटू बताए हैं।

Gangrape in Parihara: किसी तरह चंगुल से छूट पुलिस के पास पहुंची पीड़िता

पीड़िता ने बताया कि तीन लोगों ने उसके साथ गंदा काम किया। इसके बाद वह किसी तरह से वहां से भाग निकली। रास्ते में उसे पुलिस मिली तो उसने पुलिस की मदद ली। फिलहाल पुलिस ने संतोष, नीतीश और संजीव को गिरफ्तार कर लिया है। मामले में प्राथमिकी दर्ज कर पीड़िता का मेडिकल कराया गया है। अन्य आरोपियों की तलाश में पुलिस छापेमारी कर रही है।

ये भी पढ़ें: गोपालगंज पुलिस ने लांच की बेवसाइट और मोबाइल ऐप

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *