Advertisement

ED Officer Arrested: 20 लाख की घूस लेते पकड़ा गया ED का अधिकारी, 5 महीने में सेंट्रल एजेंसी का तीसरा अफसर अरेस्ट 

ED Officer Arrested

ED Officer Arrested

Share
Advertisement

ED Officer Arrested: पिछले कुछ महीनों में मनी लॉन्ड्रिंग और भ्रष्टाचार के मामले में तमिलनाडु सरकार के 2 मंत्रियों को गिरफ्तार करने वाली (ED) प्रवर्तन निदेशालय के ही एक अवसर को तमिलनाडु में 20 लाख रुपए की घूस लेने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तार अधिकारी की पहचान अंकित तिवारी के रूप में की गई है, जो मदुरै स्थित ईडी के क्षेत्रीय कार्यालय में पोस्टेड है। जिसके बाद फिलहाल राज्य की एजेंसीज अंकिल तिवारी के घर और ED ऑफिस की जांच में जुट गई है।

Advertisement

सरकारी डॉक्टर से मांगी थी 3 करोड़ की रिश्वत

स्टेट एजेंसीज के मुताबिक, ईडी अधिकारी अंकित ने एक सरकारी डॉक्टर से उसके एक पुराने मामले में 3 करोड़ रुपये की रिश्वत मांगी थी लेकिन डील तकरीबन 51 लाख रुपये में फाइनल हुई थी। जिसके बाद इसी डील के तहत जब वो रिश्वत की 20 लाख रुपये की दूसरी किस्त ले रहे थे उसी दौरान DVAC ने उन्हें रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया गया।

आपको बता दें कि DVAC ने एक बयान में कहा कि अंकित तिवारी को डिंडीगुल में हिरासत में लिए जाने के बाद न्यायिक मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया गया। इसके बाद अदालत ने आरोपी को 15 दिसंबर तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। इसके साथ साथ DVAC अधिकारियों का दावा है कि अंकित तिवारी, ईडी अधिकारियों की अपनी टीम के साथ, प्रवर्तन निदेशालय में उनके मामले को बंद करने के नाम पर कई लोगों को धमकी दे रहे थे और रिश्वत ले रहे थे.

पुराने केस का हवाला देकर डॉक्टर को धमकाया

स्टेट एजेंसीज के मुताबिक, आरोपी अंकित तिवारी ने अक्तूबर में डिंडीगुल के एक सरकारी डॉक्टर से संपर्क किया और उनके खिलाफ दर्ज एक पुराने केस को फिर से खोलने की धमकी दी और 30 अक्तूबर को मदुरै स्थित ईडी कार्यालय में पेश होने के लिए कहा। जिसके बाद तिवारी ने मामले में कानूनी कार्रवाई से बचने के एवज में डॉक्टर से तीन करोड़ रुपये की मांग की। 51 लाख पर सहमती बनी और फिर 20 लाख रुपए की दूसरी किस्त लेते हुए आरोपी अधिकारी को गिरफ्तार किया गया।

घूस के आरोप में पिछले 5 महीने में तीसरे ED अफसर की गिरफ्तारी

बता दें कि केंद्रीय जांच एजेंसी ED के असफरों को पिछले 5 महीने में तीसरी बार घूस लेते हुए गिरफ्तार किया गया है। इससे पहले जांच एजेंसी CBI ने अगस्त महीने में ED के असिस्टेंट डायरेक्टर पवन खत्री को दिल्ली शराब नीति मामले में 5 करोड़ रुपए की रिश्वत लेने के आरोप में गिरफ्तार किया था।

इसके अलावा 2 नवंबर को राजस्थान के जयपुर में ACB (भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो) ने ED के इंस्पेक्टर लेवल के एक अधिकारी नवल किशोर मीणा और उसके एक सहयोगी बाबूलाल मीणा को 15 लाख रुपए की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया गया था।

 ये भी पढ़ें – https://hindikhabar.com/state/bihar/ljp-foundation-day-before-2024-general-elections-did-chirag-give-a-big-blow-to-uncle-pashupati-mp-veena-devi-in-chirags-side/

FOLLOW US  ON – https://twitter.com/HindiKhabar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

अन्य खबरें