त्रिपुरा के नए CM Manik Saha ने लिया शपथ, चुनाव से ठीक पहले क्या है भाजपा की रणनीति?

Tripura New CM: त्रिपुरा की राजनीति में कल बहुत बड़ा सियासी उठा पटक देखने को मिला था। बता दें त्रिपुरा के सीएम बिप्लब कुमार देब ने कल अपना इस्तीफा राज्यपाल को सौंप दिया था। जिसके बाद से वहां पर सियासत तेजी से गरमा गई थी, लेकिन कुछ घंटो के बाद ही बीजेपी के विधायक दल की मीटिंग होने के बाद ही त्रिपुरा का नया CM Manik Saha के नाम की घोषणा कर दिया गया था। बता दें ये सब तो पहले से ही पार्टी द्वारा तय ही रहता है की किसे सीएम की कुर्सी पर बैठे रहने देना हैं और किसे इस कुर्सी से हटा देना है। पूर्व सीएम बिप्लब देब को हटाने के पीछे का आगामी चुनाव माना जा रहा है।

लेकिन आज त्रिपुरा को अपना नया मुख्यमंत्री मिल चुका है। बता दें त्रिपुरा के प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष माणिक साहा को नया मुख्यमंत्री बनाया गया हैं। आज Manik Saha को अगरतला में राजभवन में राज्यपाल सत्यदेव नारायण राय ने पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। जिसके बाद से आज राज्य में करीब साढ़े तीन साल तक चले बिप्लब कुमार देब के कार्यकाल का अंत हो गया है। बता दें त्रिपुरा के पूर्व मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब सपथ समारोह में आज बीजेपी के विधायकों के साथ नए सीएम के सपथ समारोह में मौजूद रहे। 2023 के चुनाव को ध्यान में रखते हुए बीजेपी अपने पुराने एजेंडा को अपनाती हुई दिखाई पड़ रही है। बता दें इससे पहले भी बीजेपी की सरकार ने कर्नाटक, गुजरात और उत्तराखंड में भी चुनाव से पहले वहा के मुख्यमंत्रियों को बदल दिया था।

बीजेपी के आलाकमान की बात करें तो उन्होंने हर बार की तरह ये फैसला इसलिए लिया है की अपने पिछले चुनावी राज्यों में बदले गए मुख्यमंत्रियों को सत्ता विरोधी लहर से पार पाने और पार्टी पदाधिकारियों को बीच किसी तरह के मनमुटाव को रोकने के लिए ये फैसला लिया गया है। हाल के चुनाव की बात करें तो बता दें उत्तराखंड में भी चुनाव से ठीक पहले ही मुख्यमंत्री पद बदलने का दांव बीजेपी का बिल्कुल ही सफल साबित हुआ।

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.