शराब की जगह क्रिकेट का नशा दूर कर रहा श्रीलंका के लोगों का गम

भारत के पड़ोसी मुल्क श्रीलंका की आर्थिक हालात दिन पर दिन खस्ता होती जा रही है। यहां के लोगों ने मानसिक दबाव को कम करने के लिए एक नया तरीका अपनाया है। अब यहां के लोगों ने अपने दुख का साथी क्रिकेट को बना लिया है। चौंकिए मत ये कोई मजाक नहीं है बल्कि श्रीलंका की सच्चाई है। कहा जा सकता है कि श्रीलंका जिस मुसीबत से गुजर रहा है वो शायद वहां के लोगों के लिए परीक्षा का समय है। ईंधन और रसोई गैस खरीदने के लिए लोग परेशान हैं। स्कूल तथा कार्यालयों में कामकाज बाधित हो रहा है क्योंकि सरकारी वाहन उपलब्ध नहीं हैं।

यह भी पढ़ें: पंजाब के मुख्यमंत्री फिर बनेंगे दूल्हे राजा, देखिए महमानों की लिस्ट

श्रीलंका में दिखा क्रिकेट का जुनून

क्रिकेट के दीवाने कहे जाने वाले इस देश में अजब का नजारा देखने को मिल रहा है। जहां लोग अब अपनी सुविधा अनुसार खाली जगह देखकर मन को शांत करने के लिए क्रिकेट खेलने लगते हैं। इस दक्षिण एशियाई देश में खाने, ईंधन और दवाओं की बेहद कमी हो गई है। सरकार ने स्कूलों और विश्वविद्यालयों  में ताला लगाने का आदेश दे दिया है। मीडिया रिपोर्टस की माने तो गॉल में श्रीलंका और ऑस्ट्रेलिया के बीच हो रहे टेस्ट अपने 10 साल के बेटे के साथ देखने पहुंचे उजित निलांथा( समाजसेवी,आर्थिक जानकार) कहते हैं कि श्रीलंका सच में बहुत ज्यादा दिक्कतों में है। लोग गरीब हो रहे हैं और सभी तरह की मुसीबतों के सामने असहाय हैं। उन्होंने ये भी बताया  कि इस समय श्रीलंका में दो अलग-अलग नजारे देखने को मिल रहें हैं।

एक तरफ लोग आर्थिक तंगी से परेशान हैं तो दूसरी तरफ लोग शराब की जगह क्रिकेट खेलकर  अपना गम मिटा रहे हैं। अब ये तो आने वाला समय ही बताएगा कि आखिर श्रीलंका की आर्थिक गतिविधियों में सुधार होगा या फिर इस देश का भी हाल पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान जैसा ही हो जाएगा।

यह भी पढ़ें: केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने मोदी मंत्रीमंडल से दिया इस्तीफा

रिपोर्ट: निशांत

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.