Advertisement

विराट और मैक्सवेल की दोस्ती पर ग्लेन ने किया खुलासा, जानें

Share
Advertisement

ग्लेन मैक्सवेल ऑस्ट्रेलिया को जिताने के बाद बैटिंग पैड उतारे बगैर विराट से मिलने पहुंच गए। मैक्सवेल को मालूम था, 765 रन बनाने के बाद भारत को मिली हार विराट के लिए बहुत तकलीफदेह होगी। ऐसे में छठी बार वर्ल्ड कप जीतकर जश्न मनाने की बजाय मैक्सवेल को विराट से मिलना ज्यादा जरूरी लगा। सोच कर देखिए, ग्लेन मैक्सवेल पैड उतारने ड्रेसिंग रूम नहीं गए बल्कि विराट कोहली से उनकी साइन की हुई जर्सी मांगी।

Advertisement

मैक्सवेल भारत में सबसे लोकप्रिय विदेशी खिलाड़ी

ग्लेन मैक्सवेल विराट की जर्सी को वर्ल्ड कप के सिंगल एडिशन में सर्वाधिक रन बनाने के यादगार के तौर पर अपने पास रखना चाहते थे। क्रिकेट इतिहास में विराट कोहली और ग्लेन मैक्सवेल की दोस्ती अमर हो गई। मैक्सवेल ने हमें सिखाया कि अपनी खुशी इंतजार कर सकती है, दोस्त की तकलीफ बांटना ज्यादा जरूरी होता है। यूं ही मैक्सवेल भारत में सबसे लोकप्रिय विदेशी खिलाड़ी नहीं हैं।

ग्लेन मैक्सवेल डिप्रेशन का शिकार

जब ग्लेन मैक्सवेल खराब प्रदर्शन के बाद डिप्रेशन में थे, तब विराट उनके साथ खड़े थे। फाइनल हारने के बाद जब विराट टूट गए, तब ग्लेन मैक्सवेल ने उनका हाथ थाम लिया। क्रिकेट की दुनिया इस दोस्ती को कभी भुला नहीं पाएगी। IPL 2020 में खराब प्रदर्शन के बाद किंग्स इलेवन पंजाब ने मैक्सवेल को टीम से बाहर कर दिया था। ग्लेन मैक्सवेल डिप्रेशन का शिकार हो गए थे। हालात ऐसे थे कि ग्लेन मैक्सवेल ने क्रिकेट छोड़ने का भी इरादा कर लिया था।

कोहली ने मैक्सवेल की तरफ मदद का हाथ बढ़ाया

ऐसे में विराट कोहली ने मैक्सवेल की तरफ मदद का हाथ बढ़ाया था। ऑस्ट्रेलिया के दौरे पर विराट ने मैक्सवेल से पूछा था, आप RCB के लिए खेलेंगे? उस वक्त ग्लेन मैक्सवेल को लग रहा था कि खराब प्रदर्शन के बाद कोई भी टीम उन्हें IPL में नहीं चुनेगी। मैक्सवेल ने विराट के ऑफर पर तुरंत हां कर दिया। विराट कोहली के समर्थन के बाद ग्लेन मैक्सवेल ने पलटवार किया और बेंगलुरु के लिए शानदार परफॉर्मेंस दिया।

विराट के चेहरे पर हार का दर्द साफ नजर आया

ऑस्ट्रेलिया छठी बार वर्ल्ड कप जीत चुका था। उसके खिलाड़ी उल्लास में डूबे हुए थे। इसी बीच ग्लेन मैक्सवेल ने विराट कोहली को ढूंढा। विराट वर्ल्ड कप के सिंगल एडिशन में सर्वाधिक 765 रन बनाने के बावजूद ट्रॉफी नहीं जीत सके थे। विराट के चेहरे पर हार का दर्द साफ नजर आ रहा था। ऐसा लग रहा था कि वह कभी भी फूट-फूट कर रो सकते हैं।

मैक्सवेल ने हर भारतीय का दिल जीता

ग्लेन मैक्सवेल ऐसे नाजुक वक्त में अपने सबसे अच्छे दोस्त का साथ नहीं छोड़ना चाहते थे। मैक्सवेल ने विराट से उनकी साइन की हुई जर्सी मांग ली। विराट ने तुरंत अपनी जर्सी ग्लेन मैक्सवेल को तोहफे में दे दी। दोस्ती की खातिर जीत का जश्न ठुकरा कर मैक्सवेल ने हर भारतीय का दिल जीत लिया। ग्लेन मैक्सवेल अपने खेल से ज्यादा व्यवहार के लिए याद किए जाएंगे।

ये भी पढ़ें – World Cup Final: जडेजा ने मोदी से मुलाकात की तस्वीर की शेयर, बोले- ‘स्पेशल था पीएम का आना’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

अन्य खबरें