Advertisement

Ram Mandir : प्राण प्रतिष्ठा करने से पीएम मोदी को ही होगा नुकसान : मणिशंकर अय्यर

Ram Mandir : प्राण प्रतिष्ठा करने से पीएम मोदी को ही होगा नुकसान : मणिशंकर अय्यर
Share
Advertisement

Ram Mandir : कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने कहा कि राम मंदिर (Ram Mandir) की प्राण प्रतिष्ठा खुद करने से पीएम मोदी को ही नुकसान होगा। दरअसल, शंकराचार्यों की कथित नाराजगी को लेकर मणिशंकर अय्यर ने यह बात कही। मणिशंकर अय्यर केरल लिटरेचर फेस्टिवल के सातवें संस्करण में शामिल हुए। इस दौरान उन्होंने कहा कि पीएम मोदी द्वारा खुद राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम में शामिल होने और धार्मिक अनुष्ठान करने पर चार शंकराचार्यों ने नाराजगी जताई है। शंकराचार्यों का हिंदू धर्म में बहुत ऊंचा स्थान है। यह सब पीएम मोदी को ही नुकसान पहुंचाएगा।

Advertisement

मणिशंकर अय्यर ने क्या कहा?

मणिशंकर अय्यर ने कहा कि अधिकतर हिंदुओं ने कभी भी हिंदुत्व के लिए वोट नहीं किया है। यह हमारा चुनाव कराने का तरीका है जो बीते 10 सालों से हिंदुत्ववादी सत्ता में हैं। अय्यर ने कहा कि हिंदू धर्म भारत का सबसे प्राचीन धर्म है और देश के बहुसंख्यक समाज द्वारा इसका पालन किया जाता है। वहीं हिंदुत्व एक राजनीतिक दर्शन है। दरअसल, ऐसा दावा किया जा रहा है कि उत्तराखंड स्थित ज्योतिर्मठ के शंकराचार्य अविमुक्तेश्वरानंद सरस्वती ने कहा है कि चारों शंकराचार्य अयोध्या में राम मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम में शामिल नहीं होंगे। उनका कहना है कि मंदिर का निर्माण कार्य पूरा होने से पहले ही प्राण प्रतिष्ठा की जा रही है, जो कि शास्त्रों के अनुसार ठीक नहीं है।

अय्यर ने अपनी किताब पर भी चर्चा की   

कार्यक्रम के दौरान मणिशंकर अय्यर ने अपनी किताब ‘The Rajiv I knew and Why he was India’s most misunderstood Prime Minister’ पर भी चर्चा की। उन्होंने दावा किया कि पूर्व पीएम राजीव गांधी पर बोफोर्स घोटाले में लगे सभी आरोप झूठे थे और उनका कोई आधार नहीं था। बोफोर्स घोटाले के आरोपों के चलते ही साल 1989 में राजीव गांधी की कांग्रेस सरकार को लोकसभा चुनाव में हार का सामना करना पड़ा था।

यह भी पढ़ें – Republic Day : परेड में दिखेगा ‘मेड इन इंडिया’ हथियारों का जलवा, वायुसेना और नौसेना की महिलाएं लहराएंगी परचम

Follow Us On : https://twitter.com/HindiKhabar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *