Advertisement

Pran Pratishtha : बाबरी मस्जिद को सिस्टमैटिक ढंग से छीन लिया गया : असदुद्दीन ओवैसी

Pran Pratishtha : बाबरी मस्जिद को सिस्टमैटिक ढंग से छीन लिया गया : असदुद्दीन ओवैसी
Share
Advertisement

Pran Pratishtha : उत्तर प्रदेश के अयोध्या में 22 जनवरी को होने वाले प्राण प्रतिष्ठा समारोह से पहले AIMIM के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने मुसलमानों से सिस्टमैटिक तरीके से बाबरी मस्जिद को छीनने का आरोप लगाया।

Advertisement

ओवैसी ने क्या कहा?

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के अध्यक्ष ओवैसी ने राम जन्मभूमि मंदिर प्राण प्रतिष्ठा (Pran Pratishtha) के नैरेटिव को चुनौती देते हुए दावा किया कि बाबरी मस्जिद को सिस्टमैटिक ढंग से भारतीय मुसलमानों से छीन लिया गया। जबकि, वे वहां 500 सालों से नमाज पढ़ रहे थे। जब कांग्रेस के जीबी पंत उत्तर प्रदेश के सीएम थे, तो रात के अंधेरे में मस्जिद के अंदर मूर्तियां रख दी गईं थीं और फिर उन्हें निकाला नहीं गया।

मस्जिद बंद करवाकर वहां पूजा शुरू कर दी

कर्नाटक के कलबुर्गी में ओवैसी ने कहा कि उस समय वहां के कलेक्टर नायर साहब थे। उन्होंने मस्जिद बंद करवाकर वहां पूजा शुरू कर दी। इसके बाद 1986 में मुसलमानों को बिना सुने मस्जिद के ताले खोल दिए गए। इतना ही नहीं, बूटा सिंह ने शिलान्यास कर दिया।

संघ परिवार ने मस्जिद को शहीद कर दिया

ओवैसी ने आरोप लगाया कि 6 दिसंबर 1992 को सुप्रीम कोर्ट से वादा करने के बाद भाजपा और संघ परिवार ने मस्जिद को शहीद कर दिया था। ओवैसी ने कहा कि जब विश्व हिंदू परिषद का गठन हुआ तब तो राम मंदिर नहीं था।

मस्जिद को मंदिर तोड़कर नहीं बनाया गया

AIMIM नेता ने कहा कि यकीनन यह सुप्रीम कोर्ट का फैसला है। यह टाइटल सूट का केस था। कोर्ट ने आस्था की बुनियाद पर कहा कि हम ये जमीन मुसलमानों को नहीं दे सकते। कोर्ट ने अपने फैसले में यह भी कहा कि मस्जिद को मंदिर तोड़कर नहीं बनाया गया था।

यह भी पढ़ें – 21.6 फीट लंबी बांसुरीः रामलला को उपहार, मुस्लिम परिवार ने की तैयार

Follow Us On : https://twitter.com/HindiKhabar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *