रविवार को पीएम मोदी जाएंगे जम्मू, 38 हजार करोड़ रुपये के औद्योगिक निवेश को देंगे अंतिम रूप

जम्मू में औद्योगिक निवेश से राज्य का विकाश अब तेजी से होगा। 24 अप्रैल यानि रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जम्मू की यात्रा पर जाएंगे। प्रधानमंत्री जम्मू के सांबा के पल्ली गांव से देशभर के पंचायत प्रतिनिधियों को संबोधित करेंगे

Share This News
जम्मू में औद्योगिक निवेश

जम्मू में औद्योगिक निवेश से राज्य का विकाश अब तेजी से होगा। 24 अप्रैल यानि रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जम्मू की यात्रा पर जाएंगे। प्रधानमंत्री जम्मू के सांबा के पल्ली गांव से देशभर के पंचायत प्रतिनिधियों को संबोधित करेंगे और खाड़ी देशों से आए लगभग एक दर्जन राजनयिकों और निवेशकों की मौजूदगी में जम्मू-कश्मीर के लिए 38 हजार करोड़ रुपये के औद्योगिक निवेश को अंतिम रूप देंगे।

जम्मू-कश्मीर में सूचना प्रौद्योगिकी, हॉस्पिटैलिटी, रियल स्टेट और खाद्य संवर्धन में निवेश करने जा रहे खाड़ी देशों के निवेशक शुक्रवार दोपहर बाद श्रीनगर पहुंच गए हैं। भारत में संयुक्त अरब अमीरात के राजदूत डॉ. अहमद अलबन्ना के नेतृत्व में प्रतिनिधिमंडल भारत पहुंच चुका है।

इस प्रतिनिधिमंडल में डीपी वर्ल्ड ग्रुप चेयरमैन और सीईओ सुल्तान अहमद बिन सुलेयम, डीपी वर्ल्ड ग्रुप में सरकारी मामले विभाग के उपाध्यक्ष उमर अल मुहैरी, एम्मार प्रापर्टीज के संस्थापक एवं प्रबंध निदेशक मोहम्मद अली अल अब्बार, एम्मार प्रापर्टीज के ग्रुप सीईओ अमित जैन, एस्सा अल घुरैर इन्वेस्टमेंट के अध्यक्ष एस्सा अब्दुला बिन अहमद अल घुरैर, लुलु ग्रुप के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक युसुफ अली एमए, अबू धाबी कैपिटल ग्रुप के अध्यक्ष व सीईओ अबुबकर अलखौरी, रायल स्ट्रेटेजिक पार्टनर्स के सीईओ हमद अल-अली, विज फाइनेंशियल के ग्रुप चेयरमैन आमीर नागम्मी, प्रिज्म ग्रुप के सीईओ सुल्तान अल-अहबाबी और अल माया समूह के अध्यक्ष कमल वाचानी शामिल हैं।

यह भी पढ़ें- ब्रिटिश PM जॉनसन और पीएम मोदी की मुलाकात, जानें रुस-यूक्रेन यूद्ध को लेकर क्या हुई चर्चा?

राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस पर प्रधानमंत्री सांबा जिले की पल्ली पंचायत में रैली को संबोधित करेंगे। इसके लिए 1700 बसें चलाई जा रही हैं। इन बसों से पंचायत प्रतिनिधियों, केंद्रीय कल्याणकारी योजनाओं के लाभार्थियों समेत अन्य लोगों को रैली स्थल पर लाया जाएगा। पीएम की रैली में करीब 1 लाख लोगों के पहुंचने की उम्मीद है।

2019 में जम्मू-कश्मीर राज्य के पुनर्गठन के बाद मोदी का यह पहला अधिकारिक दौरा है। इससे पहले प्रधानमंत्री साल 2020 और 2021 में सैन्यकर्मियों के साथ दिवाली मनाने जरूर गए हैं लेकिन सार्वजनिक कार्यक्रम नहीं किया था।

रैली में ग्रामीण विकास विभाग, ग्रामीण आजीविका मिशन, कौशल विकास विभाग, स्वास्थ्य विभाग, उद्योग एवं वाणिज्य विभाग और युवा मिशन अपनी उपलब्धियों पर अपनी-अपनी प्रदर्शनी लगा रहे हैं। इस प्रदर्शनी को भी प्रधानमंत्री द्वारा देखा जाएगा। इस दौरान करीब 11 हजार पंचायत प्रतिनिधि पल्ली पहुंच रहे हैं।

यह भी पढ़ें- Google Doodle: आखिल गूगल क्यों सेलिब्रेट कर रहा है नाजिया सलीम को, कब हुई GD की शुरुआत

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.