Advertisement

Gaganyaan Mission: अंतरिक्ष में जाएंगे ये चार एस्ट्रोनॉट,PM मोदी ने पहनाए एस्ट्रोनॉट विंग्स

Share
Advertisement

Gaganyaan Mission: भारत के मिशन गगनयान पर तेजी से काम चल रहा है। इसरो का लक्ष्य साल 2025 तक स्पेस में भारतीय अंतरिक्ष यात्रियों को भेजने का है। इसी मिशन का नाम गगनयान है। कौन से चार अंतरिक्ष यात्रियों को स्पेस में भेजा जाएगा, इनको पीएम मोदी ने खुद देश के सामने पेश किया।

Advertisement

पीएम मोदी ने आज खुद चारों एस्ट्रोनॉट को अपने हाथों से एस्ट्रोनॉट विंग्स पहनाए। इनके नाम प्रशांत नायर, अंगद प्रताप, अजित कृष्णन और शुभांशु शुक्ला हैं। वायुसेना के 100 पायलटों में से मिशन गगनयान के लिए 4 पायलटों को चुना गया है। यह टेस्ट पायलट होने के साथ साथ फाइटर पायलट भी हैं।

गगनयान में जाने के लिए वायुसेना के पायलटों को चुनने की वजह यह है कि ये पायलट स्पेस के हालात से वाकिफ होते हैं। उनको उड़ान का खासा अनुभव होता हैं। इस मिशन को सफल बनाने के लिए एस्ट्रोनॉट को कठिन ट्रेनिंग दी जा रही हैं।

Gaganyaan Mission: एस्ट्रोनॉट को दी जा रही कठिन ट्रेनिंग

चुने गए पायलटो की ट्रेनिंग चल रही है, फिजिकल फिटनेस के साथ साथ एस्ट्रोनॉट को कठिन ट्रेनिंग दी जा रही हैं, इसकी वजह मिशन का कठिन होना है। जमीन से 300 से 400 किलोमीटर ऊंचाई पर इनको कैप्सूल में रहना हैं। जब मिशन पूरा हो जाए तो कैसे कैप्सूल को सुरक्षित पानी मे गिराना है इसका भी मेकेनिज्म है। अगर किसी कारणवश इसे समुद्र में सुरक्षित नहीं उतारा जा सके तो उसमें पैराशूट भी लगा होता है, जिससे पायलट सुरक्षित जमीन पर आ सके।

यह भी पढ़ें:-Delhi News: एलएनजेपी हॉस्पिटल में आग लगने से मचा हडकंप, शॉर्ट सर्किट होने से हुआ हादसा

Hindi Khabar App: देश, राजनीति, टेक, बॉलीवुड, राष्ट्र, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल, ऑटो से जुड़ी ख़बरो को मोबाइल पर पढ़ने के लिए हमारे ऐप को प्ले स्टोर से डाउनलोड कीजिए। हिन्दी ख़बर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *