Advertisement

Covid-19: कोरोना ने फिर पकड़ी रफ्तार, केन्द्र ने लिखा 6 राज्यों को पत्र

Share
Advertisement

देश में एक तरफ H3N2 इन्फ्लुएंजा वायरस पैर पसार रहा है तो अब दूसरी तरफ कोरोना महामारी भी एक बार फिर रफ्तार पकड़ रही है। बता दें कि कोविड-19 के मामलों में वृद्धि हुई है। इसको लेकर केन्द्र ने 6 राज्यों की सरकारों को पत्र लिखा है।

Advertisement

देश में 4 महीने बाद कोरोना के 700 से ज्यादा मामले रिपोर्ट किए गए हैं। इसके बाद देशभर में ऐसे 4,623 मरीज हो गए हैं, जिनका इलाज चल रहा है। स्वास्थय विभाग के आंकड़ो के मुताबिक बीते दिन यानी गुरूवार को देशभर में 754 नए मामले सामने आए हैं। इसके बाद कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 4,46,92,710 हो गई है।

6 राज्यों को लिखा पत्र

कोविड के मामलों में वृद्धि के बाद स्वास्थय और परिवार कल्याण मंत्रालय ने 6 राज्यों को पत्र लिखा है। स्वास्थय मंत्रालय ने यह पत्र महाराष्ट्र, गुजरात तेलंगाना, तमिलनाडू, कर्नाटक, केरल को लिखा है। इसमें कहा गया कि बीते कुछ महीने में कोरोना के केस में कमी आई थी, लेकिन पिछले एक हफ्ते से केस में फिर हो रही है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने आगे कहा कि राज्य सरकारें बढ़ते कोरोना केस को कंट्रोल करने पर ध्यान दें। राज्य सरकारें फाइव फोल्ड स्ट्रैटेजी के तहत टेस्ट, ट्रीट, ट्रैक, वैक्सीनेशन की रणनीति का पालन करें।

बढ़ रहा है H3N2 का खतरा

कोरोना महामारी, जिसने संपूर्ण विश्व खूब कोहराम मचाया है। इसके बाद अब H3N2 इन्फ्लुएंजा वायरस भी देश में पैर पसार रहा है। देश के अलग-अलग हिस्सों से इसके मामले सामने आ रहे हैं। इससे अब तक 10 लोगों की मौत हो चुकी है।

इन्फ्लुएंजा के लक्षण

इस वायरस के एक दिन में हजारों मामले सामने आ रहे हैं। यह भी कोरोना वायरस की तरह एक से दूसरे में फैलता है। इन्फ्लुएंजा वायरस में 3 से 5 दिन बुखार के साथ-साथ खांसी और जुकाम होता है। सिर में दर्द, मांसपेशियों में दर्द, गले में खराश जैसी बीमारीयों का सामना करना पड़ता है। इससे बचाव के लिए सुरक्षाकर्मी फेसमास्क लगाने की सलाह दे रहे हैं।

ICMR के मुताबिक, अस्पताल में भर्ती H3N2 वाले मरीजों में 92% मरीजों में बुखार, 86% को खांसी, 27% को सांस फूलना, 16% को घरघराहट की समस्या थी।

ICMR ने कहा, “H3N2 के कारण गंभीर तीव्र श्वसन संक्रमण से पीड़ित लगभग 10% रोगियों को ऑक्सीजन की आवश्यकता होती है, और 7% को ICU देखभाल की आवश्यकता होती है।

वायरस से बचाव

कोरोना महामारी की तरह इस वायरस से भी बचाव करने के लिए साफ सफाई को सुनिश्चित करना चाहिए। अपने हाथों को बार बार पानी और साबुन से धोना चाहिए। बाहर से आने के बाद हाथों को सैनेटाइज करना चाहिए। भीड़भाड़ वाली जगहों पर जाने से बचना चाहिए। बिना फेस मास्क के घर से बाहर नहीं निकलना चाहिए। मुंह और नाक को छूने से बचें। छींकते समय नाक और मुंह को कवर करें।

ये भी पढ़ें: Madhya Pradesh: पहले H3N2 मामले की पुष्टि, होम आइसोलेशन में मरीज

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

अन्य खबरें