बुद्धिमान व्यक्ति अपने जीवन में इन आदतों के कारण नहीं पहुंच पाते सफलता के शीर्ष पर, आइए जानते हैं कैसे?

हमेशा से ही सफलता का असली मानक बुद्धि होता है। लेकिन आज के इस बदलते युग में सफलता के लिए बुद्धि होने से ज्यादा समय के हिसाब से बुद्धि का इस्तेमाल करना जरुरी है। इसीलिए अक्सर ऐसा देखा गया है कि अधिक बुद्धिमान लोग आज की दुनिया में ज्यादा आगे नहीं बढ़ पाते हैं। आइए आपको बता दें कि आखिर वो कौन सी गलतियां हैं। जिसकी वजह से अधिक बुद्धि होने के बावजूद भी सफलता से वंचित रह जाते हैं। आज के बदलते युग में सारा खेल Networking और Marketing  का है। कहते हैं न जो दिखता है वो बिकता है अधिक बुद्धिमान लोग अपने आप को इस मामले में निखार नहीं पाते हैं। बल्कि कम होशियार वाले लोग लोगों से जल्दी संबध स्थापित कर लेते हैं।

यह भी पढ़ें: UP में 21 IPS अफसरों समेत 12 जिलों के पुलिस कप्तानों को तबादला

टीम वर्क को पसंद न करना

हमारे समाज में अक्सर देखा गया है कि अधिक बुद्धिमान लोग जल्दी सबके साथ अपने आप को धाल नहीं पाते हैं। उसकी वजह होती है कि उनका Over Confidence क्योंकि ऐसे लोग यही सोचते हैं कि मुझे सब कुछ आता है। इसी वजह से ये लोग अच्छे टीम मेट नहीं बन पाते हैं।

लोगों से व्यव्हार रखने से कतराना

अधिक बुद्धिमान लोग ऐसा सोचते हैं ज्यादा लोंगों से व्यव्हार रखने से जीवन में मानसिक तनाव बढ़ता है। और आज कल के लोग किसी के काम भी नहीं आतें हैं। आपको बता दें ये लोग आज के बदलते समय की हवा को समझ नहीं पाते हैं। सफलता के लिए नेटवर्किंग और डिप्लोमेसी की बहुत जरूरत होती है। अधिकतर बुद्धिमान लोग ऑफिस पॉलिटिक्स से दूर रहते हैं और इसे सही भी नहीं मानते हैं। इसके चलते वह कई बार सही मौके पाने में चूक जाते हैं।

यह भी पढ़ें: गृह मंत्रालय ने महाराष्ट्र के अमरावती में दवा कारोबारी हत्याकांड की भी जांच NIA को सौंपी

ज्ञानी लोग अपना हर काम बड़े ही सही तरीके से करना चाहते हैं। यानी हर काम में परफेक्शन चाहते हैं ताकि उसमें कोई कमी ना रह जाए। लेकिन कई बार यह आदत उनके लिए भारी साबित होती है। दरअसल परफेक्शन की चाहत में काम में समय ज्यादा लग जाता है, जिससे काम की क्वांटिटी में प्रभाव पड़ता है।

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.