Advertisement

स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार देश में करीब 4 करोड़ से अधिक लोगों ने नहीं ली एक भी कोरोना वैक्सीन

Share
Advertisement

New Delhi: स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों के अनुसार, भारत की 98 प्रतिशत वयस्क आबादी को कोविड-19 वैक्सीन की कम से कम एक खुराक मिली है, जबकि 90 प्रतिशत को पूरी तरह से टीका लगाया जा चुका है। जारी आंकड़ों के अनुसार देश में करीब 4 करोड़ पात्र लाभार्थियों ने 18 जुलाई तक कोविड-19 वैक्सीन की एक भी खुराक नहीं ली है।

Advertisement

यह भी पढ़ें: Agneepath Scheme Protest: अग्निपथ योजना से रेलवे को हुआ करोड़ों का नुकसान-अश्विनी वैष्णव

स्वास्थ्य राज्य मंत्री भारती प्रवीण पवार ने शुक्रवार को लोकसभा को यह सूचित किया। उन्होंने एक लिखित उत्तर में कहा कि 18 जुलाई तक सरकारी कोविड टीकाकरण केंद्रों में कुल 1,78,38,52,566 वैक्सीन खुराक (97.34 प्रतिशत) मुफ्त में दी गई हैं। इसके साथ ही उन्होंने ये भी कहा की 18 जुलाई तक करीब 4 करोड़ पात्र लाभार्थियों ने कोविड के टीके की एक भी खुराक नहीं ली है।

75 दिवसीय अभियान चलाया जा रहा

इस साल 16 मार्च से सरकारी सीवीसी में स्वास्थ्य कर्मियों, फ्रंटलाइन वर्कर्स और 60 वर्ष से अधिक आयु के सभी लाभार्थियों के लिए एहतियाती खुराक मुफ्त उपलब्ध थी। लेकिन निजी सीवीसी में 10 अप्रैल से 18-59 वर्ष आयु वर्ग के लिए टीके उपलब्ध थे। सरकारी टीकाकरण केंद्रों में 18 वर्ष और उससे अधिक आयु के सभी लोगों को एहतियाती खुराक देने के लिए विशेष 75 दिवसीय अभियान 15 जुलाई से शुरू हुआ था।

वहीं, अब तक लगभग 23 करोड़ आयुष्मान भारत स्वास्थ्य खाता नंबर बनाए गए हैं। जो 14 अंकों की स्वास्थ्य आईडी है। इसमें आंध्र प्रदेश ने सबसे अधिक 3.21 करोड़ कार्ड बनाए हैं, इसके बाद उत्तर प्रदेश और बिहार का स्थान है। लोकसभा में शुक्रवार को सरकार की ओर से यह जानकारी दी गई।

यह भी पढ़ें: CBSE 10वीं बोर्ड के परीक्षा परिणाम आज होंगे जारी, जानें कैसे कर सकेंगे रिजल्ट चेक

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

अन्य खबरें