ताक पर कोरोना नियम, अखिलेश की वर्चुअल रैली में उमड़ी भीड़, DM ने दिए जांच के आदेश

शुक्रवार को लखनऊ में बीजेपी (BJP) के कई बागी मंत्री और विधायकों ने सपा (Samajwadi Party) का दामन थाम लिया. सपा कार्यालय में हुए इस कार्यक्रम का नाम वर्चुअल रैली दिया गया. इस रैली में काफी भीड़ उमड़ी. जिसकी वजह से सपा नेता और अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) मुसीबत में फंस सकते है क्योंकि, कोरोना के नियम (Covid Guidelines) तोड़ने पर लखनऊ के DM ने जांच के आदेश दे दिए हैं.

जांच के बाद कार्रवाई होगी- DM

लखनऊ के DM अभिषेक प्रकाश का कहना है कि समाजवादी पार्टी का कार्यक्रम बिना अनुमति के हुआ. सूचना मिलने पर मजिस्ट्रेट के साथ पुलिस टीम को सपा दफ़्तर भेजा गया. रिपोर्ट के आधार पर आगे की ज़रूरी कार्रवाई की जाएगी.

15 जनवरी तक रैलियों पर रोक

आपको बता दें कि, स्वामी प्रसाद मौर्य समेत बाकी नेताओं ने जब सपा का दामन थामा तब वहां भारी संख्या में भीड़ थी, जबकि कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए चुनाव आयोग (Election Commision) ने 15 जनवरी तक रैलियों पर रोक लगा रखी है. इस दौरान सिर्फ वर्चुअल तरीके से ही प्रचार होना है. रैली और रोड शो दोनों पर पाबंदी है. लेकिन यहां वर्चुअल रैली के नाम पर कार्यक्रम हुआ, जिसमें काफी भीड़ थी.

कोरोना गाइडलाइन का पालन करेंगे- अखिलेश

लखनऊ में कार्यक्रम को संबोधित करते हुए अखिलेश यादव ने यह भी कहा कि वह चुनाव आयोग की बनाई गाइडलाइंस का पालन भी करेंगे. वह बोले, ‘किसी ने नहीं सोचा था कि चुनाव ऐसा भी होगा. अब वर्चुअल रैली की बात है, कि डिजिटल प्लेटफॉर्म से हमें अपनी बात कहनी है. ये सही है कि वर्चुअल और डिजिटल में भी हम चीजों को जानते हैं लेकिन जो ताकत हमारे कार्यकर्ताओं में फिजिकली है, उसका कोई मुकाबला नहीं कर सकता.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *