PM Modi in Assam: असम में पीएम मोदी, सात कैंसर अस्पतालों का किया उद्घाटन

असम में PM (PM Modi in Assam) ने अपने संबोधन में कहा आज पूरे देश में हिंसा, अराजकता का समाधान किया जा रहा है, कभी इस क्षेत्र की चर्चा होती थी तो बम और गोलियों की आवाज़ सुनाई देती थी।

Share This News
PM Modi in Assam

असम: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ‘शांति, एकता और विकास रैली’ में शामिल होने के लिए कार्बी आंगलोंग ज़िले के दीफू पहुंचे। इस दौरान PM ने (PM Modi in Assam) कार्बी आंगलोंग में मांजा पशु चिकित्सा महाविद्यालय, वेस्ट कार्बी आंगलोंग कृषि महाविद्यालय, अम्पानी वेस्ट कार्बी आंगलोंग गवर्नमेंट कॉलेज सहित कई योजनाओं की आधारशिला रखी।

सात कैंसर अस्पतालों का पीएम ने किया उद्घाटन

असम में PM (PM Modi in Assam) ने अपने संबोधन में कहा आज पूरे देश में हिंसा, अराजकता का समाधान किया जा रहा है, कभी इस क्षेत्र की चर्चा होती थी तो बम और गोलियों की आवाज़ सुनाई देती थी। पिछले वर्ष सितंबर में कार्बी आंगलोंग के अनेक संगठन शांति और विकास के रास्ते पर आगे बढ़ने का कदम उठा चुके हैं। असम व नॉर्थ ईस्ट में सरकार और समाज के सामुहिक प्रयास से शांति लौट रही है, वैसे ही पुराने नियम में बदलाव किए जा रहे हैं। नॉर्थ ईस्ट के अनेक राज्यों में AFSPA लंबे समय तक था, पिछले 8 साल में स्थाई शांति और बेहतर कानून व्यवस्था के कारण AFSPA को कई क्षेत्रों से हटाया गया।

बेहतर कानून व्यवस्था के कारण AFSPA को कई क्षेत्रों से हटाया गया

पीएम मोदी (PM Modi in Assam) ने कहा साथियों आप भलीभांति जानते है कि मैंने आपकी समस्याओं को आपके ही परिवार के सदस्य के रूप में मैंने हर मुसीबत को समझने की कोशिश की है। जब परिवार के सदस्य के रूप हम सब एक परिवार की तरह समाधान खोजते हैं तो उसमें एक संवेदनशीलता होती है दर्द और पीड़ा का एहसास होता है। बीते 8 साल में नॉर्थ ईस्ट में हिंसा की घटना में 75% की कमी आई है। यही कारण है कि पहले त्रिपुरा और फिर मेघालय से AFSPA को हटाया गया। स्थितियों में सुधार न होने के कारण पहले की सरकारें इसे बार-बार आगे बढ़ा रही थी। आज असम के 23 ज़िलों से AFSPA हटाई गई है।

बीते 8 साल में नॉर्थ ईस्ट में हिंसा की घटना में 75% की कमी आई

PM मोदी (PM Modi in Assam) बोले मुझे जब-जब आपके बीच आने का मौका मिला है, आपका भरपूर प्यार, आपका अपनापन देखकर ऐसा लगता है कि जैसे ईश्वर का आशीर्वाद मिल रहा है। इतनी बड़ी संख्या में आप लोग यहां आए हैं, वो भी अपनी परंपरागत वेशभूषा में आए हैं, इसके लिए मैं आपका हृदय से आभार व्यक्त करता हूं। ये सुखद संयोग है कि आज जब देश आज़ादी का अमृत महोत्सव मना रहा है, तब हम इस धरती के महान सपूत लचित बोरफुकान की 400वीं जन्मजयंति भी मना रहे हैं। उनका जीवन राष्ट्रभक्ति और राष्ट्रशक्ति की प्रेरणा है। कार्बी आंगलोंग से देश के इस महान नायक को मैं नमन करता हूं।

Read Also:- मेरठ: माफिया बदन सिंह बद्दो के गुर्गों पर योगी सरकार का शिकंजा, अवैध दुकानों पर चला बुलडोजर

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.