कांग्रेस पार्टी किसानों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ी: कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी

यूपी: कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी पहुंची। उन्होनें काशी विश्वनाथ मंदिर और मां कूष्मांडा के दरबार में हाजिरी लगाने के बाद किसान न्याय रैली को संबोधित किया। साथ ही माँ अन्नपूर्णा के मंदिर में दर्शन कर सामाजिक सद्भाव, एकता और देश की उन्नति की मंगलकामना की। इसी के साथ उन्होनें दुर्गा कुंड में माता दुर्गा के दर्शन कर उनका आशीर्वाद लिया। माँ दुर्गा से पाप और अन्याय का संहार कर देश में शांति स्थापित करने की मंगलकामना की।

कांग्रेस पार्टी किसानों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ी: प्रियंका गांधी

‘किसान न्याय रैली’ में प्रियंका गांधी ने कहा कि जो सच्चाई मैंने उत्तर प्रदेश में पिछले 2 सालों से देखी है, वह सच्चाई मैं आपके सामने रखना चाहती हूं। यहाँ से कुछ ही दूर सोनभद्र में एक घटना हुई, 13 आदिवासी खेत में काम कर रहे थे। जब पुलिस प्रशासन की सहमति से कुछ लोग उनकी जमीन लेने की कोशिश कर रहे थे। वह लोग ट्रैक्टर-जीप लेकर आते, गोली चलाई और 13 आदिवासियों को शहीद किया, सोनभद्र में नरसंहार हुआ। जब मैं उनसे मिलने गई, मेरे मन में एक बात मुझे स्पष्ट लगी। जिस परिवार के पास मैं जा रही थी, वे कह रहे थे कि हमें मुआवजा नहीं चाहिए, हमें न्याय चाहिए। लेकिन हमें न्याय की उम्मीद नहीं है।

हाथरस के मामले में सरकार ने अपराधियों पर आक्रमण नहीं किया

आगे उन्होनें कहा कि उनके पिता जी ने मुझसे कहा कि उन्हें घर के बाहर निकाल कर पीटा गया था, उनके बच्चों को धमकाया गया था, उनकी 9 साल की पोती को भी धमकाया गया था। लेकिन उनको न्याय की कोई उम्मीद नहीं थी, वह सिर्फ न्याय चाहते थे। उन मामलों में भाजपा के एक पूर्व विधायक, भाजपा के एक प्रधान के बेटे, भाजपा के एक कार्यकर्ता; तीनों मामलों में वे शामिल थे।

कोरोना के समय जहाँ-जहाँ से रिपोर्ट आई, रिपोर्ट में यही आया कि जनता त्रस्त: कांग्रेस महासचिव

प्रियंका बोली कोरोना के समय जहाँ-जहाँ से रिपोर्ट आई, रिपोर्ट में यही आया कि जनता त्रस्त है, परेशान है और सरकार मदद की बजाय आक्रामक हो गई है। अगर कोई कहता था मेरे पास सुविधा नहीं है, मेरे पास ऑक्सीजन नहीं है, कोई अस्पताल कहता था कि हमारे पास ऑक्सीजन नहीं है, तो सरकार मदद की बजाये उन पर आक्रमण कर रही थी।

सरकार पूरी तरह से उस मंत्री और मंत्री के बेटे के बचाव में लगी रही

वाराणसी में किसान न्याय रैली में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा कि अगर कोई कहता था मेरे पास सुविधा नहीं है, मेरे पास ऑक्सीजन नहीं है, कोई अस्पताल कहता था कि हमारे पास ऑक्सीजन नहीं है, तो सरकार मदद की बजाये उन पर आक्रमण कर रही थी। हाथरस के मामले में पीड़ित परिवार ने भी मुझे कहा कि दीदी हमें इस सरकार से न्याय की उम्मीद नहीं है। लेकिन हमें न्याय चाहिए। लखीमपुर खीरी में जो हुआ, इस देश के गृह राज्यमंत्री के बेटे ने अपनी गाड़ी के नीचे 6 किसानों को निर्ममता से कुचल दिया। 6 के 6 परिवार यह कहते हैं कि हमें पैसे नहीं चाहिए, हमें मुआवजा नहीं चाहिए, हमें न्याय चाहिए।

वाराणसी में बीजेपी को प्रियंका की ललकार, बोली- लखीमपुर खीरी कांड में सरकार ने पूरी तरह से उस मंत्री के बेटे का किया बचाव

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.