क्रांति दिवस पर शहीदों को नमन करने आज मेरठ पहुंचेंगे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ विधानसभा चुनावों के बाद पहली बार आज मेरठ दौरे (CM Yogi Come Meerut) पर जाएंगे। मेरठ पहुँच कर सीएम योगी के कई कार्यक्रम है, जिनको वो अपने अफसरों के साथ मिलकर पूर्ण करेंगे।

Share This News
CM Yogi Come Meerut

सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ विधानसभा चुनावों के बाद पहली बार आज मेरठ दौरे (CM Yogi Come Meerut) पर जाएंगे। मेरठ पहुँच कर सीएम योगी के कई कार्यक्रम है, जिनको वो अपने अफसरों के साथ मिलकर पूर्ण करेंगे। योगी आदित्यनाथ आज शहीद दिवस पर शहीदों को नमन भी करंगे और साथ ही मेरठ में चल रहे विकास कार्यो का मुआयना भी करेंगे। सीएम आज शाम 4:30 बजे पुलिस लाइन हेलीपैड पहुंचेंगे। गाजियाबाद के हिंडन से सीएम सीधे मेरठ आएंगे। मेरठ पुलिस लाइन में बन रहे ट्रांजिट हॉस्टल का निरीक्षण करेंगे।

मेरठ में चल रहे विकास कार्यो का मुआयना भी करेंगे CM

यहां से सीएम सीधे कमिश्नर आवास से (CM Yogi Come Meerut) सटे धन सिंह कोतवाल की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित करेंगे। कमिश्नरी में पुलिस व प्रशासन के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक करेंगे। मेरठ में रैपिड रेल के निर्माण कार्य का भी निरीक्षण करेंगे। शाम 6 बज कर 40 मिनट पर शहीद स्मारक पर अमर शहीदों को नमन करेंगे। उसके बाद सीएम राजकीय स्वतंत्रता संग्रहालय भी जायेंगे। विक्टोरिया पार्क मे भी कार्यक्रम में शिरकत करेंगे। रात्रि करीब पौने 9 बजे सीएम मेरठ से गाजियाबाद हिंडन के लिए रवाना होंगे। मुख्यमंत्री कई परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास भी करेंगे। तो वहीं नौचंदी मेले का भी लोकार्पण आज सीएम द्वारा किया जाएगा। मुख्यमंत्री के आगमन की तैयारियों को अंतिम रूप दे दिया गया है।

10 मई 1857 को मेरठ से हुई थी क्रांति की शुरुआत

आपको बता दें कि 10 मई 1857 को मेरठ से क्रांति की शुरुआत हुई। बाद में यही क्रांति कानपुर, बरेली, झांसी व अवध तक फैल गई। उस समय सैन्य विद्रोह के रूप में क्रांति की शुरुआत हुई, लेकिन वह ब्रिटिश हुकुमत के खिलाफ जन व्यापी विद्रोह के रूप में बदल गई। चर्बी लगे कारतूसों का विरोध करने पर 85 सैनिकों का कोर्ट मार्शल किया गया मेरठ के पांचली निवासी धन सिंह गुर्जर सदर बाजार थाने के कोतवाल थे। 24 अप्रैल को 85 सैनिकों की परेड़ हुई। 9 मई 1857 को सजा सुनाई और भेज दिया गया जेल। दस मई की शाम अंग्रेजी हुकूमत के खिलाफ बगावत शुरू कर दी गई।

Read Also:- वाराणसी: ज्ञानवापी सर्वे मामले में आज आ सकता है बड़ा फैसला, अभी तक केवल 10% हुआ है परिसर में सर्वे का काम

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.