UP में योगी सरकार ले सकती बड़ा फैसला, सरकारी विभागों में कार्यरत 50 साल से अधिक उम्र वालों कर्मचारी होंगे जबरन रिटायर

उत्तर प्रदेश में जल्द ही योगी सरकार अपने सरकारी कर्मचारियों के ऊपर गाज गिराने की तैयारी कर रही है। बता दें खबरों के अनुसार योगी सरकार ने राज्य के सभी विभागों में कार्यरत 50 साल से अधिक उम्र वाले कर्मचारियों को जबरन रिटायर कराने का फैसला करने वाली है। इसी के साथ इस खबर को लेकर सभी कर्मचारियों के अंदर अब हाहाकार मच रखा है। बता दें उत्तर प्रदेश में ऐसे कर्मचारी जो भ्रष्टाचार, गंभीर बीमारी, काम न करने वाले और जांच में फंसे हुए हैं। उनके अनिवार्य रिटायरमेंट पर 31 जुलाई तक फैसला करना अनिवार्य कर दिया गया है। फिलहाल इसकी जानकारी 15 अगस्त तक कार्मिक विभाग को देनी होगी।

यह भी पढ़ें: लालू यादव की तबीयत में नहीं सुधार, AIIMS दिल्ली ले जाने की तैयारी, PM मोदी ने जाना हाल

क्यों जबरन रिटायर कराएगी योगी सरकार

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश में कर्मचारीयों कि 60 साल की उम्र पूरी होने पर रिटायर किए जाते हैं। जोकि लगभग पूरे देश में एक जैसी ही रिटायरमेंट की उम्र होती है। हालांकि पहले कुछ विभागों में 58 साल रिटायरमेंट की उम्र था। बता दें मंगलवार को मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र ने विभागाध्यक्षों को एक आदेश जारी किया है। हालांकि इस खबर के बाद राज्य के कर्मचारियों के बीच अब हाहाकार मच गया है।

दरअसल, इस आदेश में कहा गया है कि स्क्रीनिंग कमेटी 31 मार्च 2022 को 50 साल की आयु पूरी करने वालों के नामों पर विचार करेगी। यह आयु पूरी करने वाले किसी भी सरकारी सेवक के मामले में स्क्रीनिंग कमेटी के समक्ष प्रस्ताव रखकर यदि उसे सेवा में बनाए रखने का फैसला एक बार कर लिया जाता है, तो बार-बार स्क्रीनिंग कमेटी के समक्ष उसके नाम को पुन: रखने की जरूरत नहीं होगी। फिर ऐसे कर्मचारियों को सेवानिवृत्त की अवधि तक सेवा में बनाए रखा जाएगा।

अच्छा काम करने वाले कर्मचारी नहीं होंगे जबरन रिटायर 

इस आदेश के साथ उत्तर प्रदेश सरकार का कहना है कि ऐसे कर्मचारी जो जिस पद पर भी कार्यरत है। उनका प्रदर्शन अगर बेहतर रहता है और वो अपने काम को पूर्ण निष्ठा से करते है तो उन्हें जबरन रिटायर नहीं करवाया जाएगा।

यह भी पढ़ें: पंजाब के मुख्यमंत्री फिर बनेंगे दूल्हे राजा, देखिए महमानों की लिस्ट

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.