‘चर्चा चाय की दुकानों पर नहीं संसद में की जाती है’- ममता बनर्जी

10 जनपथ पर ममता बनर्जी से मुलाकात के बाद सोनिया गांधी और राहुल गांधी।

नई दिल्ली: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी इन दिनों दिल्ली दौरे पर हैं, जहां प्रधानमंत्री से लेकर सोनिया गांधी, केजरीवाल तक उनकी मुलाकातों का सिलसिला जारी है। ममता ने बुधवार को दिल्ली में कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्षा सोनिया गाँधी और पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी से मुलाक़ात की थी।

राजनीतिक गलियारों में इस मुलाकात के कई मायने लगाए जा रहे हैं। कयास ऐसे भी हैं कि 2024 आम चुनावों को लेकर विपक्ष अभी से तैयारियों में लग गया है। साथ ही विपक्ष को एकजुट दिखाने की भी भरपूर कोशिशें हो रही हैं।

इसी बीच ममता बनर्जी ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से भी मुलाक़ात की।

लेकिन इन मुलाकातों में सबसे ज्यादा ध्यान सोनिया गाँधी और ममता बनर्जी की मुलाक़ात को दिया जा रहा है। राजनीतिक हल्कों में ख़ासतौर से इस मीटिंग को लेकर काफ़ी हलचल है।

इस मुलाक़ात पर ममता बनर्जी ने कहा, “सोनिया जी ने मुझे चाय के लिए आमंत्रित किया था। राहुल जी भी वहीं मौजूद थे। हमने देश में चल रहे मामलों पर बातचीत की। साथ ही पेगासस और देश में कोविड की स्थिति पर चर्चा की। हमने विपक्ष की एकजुटता पर भी चर्चा की। ये काफ़ी अच्छी और सकारात्मक मुलाक़ात रही। बीजेपी को हराने के लिए हम सभी को एक साथ आना पड़ेगा। सभी को साथ काम मिलकर काम करना पड़ेगा।”

पेगासस के मुद्दे पर भी उन्होंने बात कही। उन्होंने कहा, “सरकार पेगासस के मुद्दे पर जवाब क्यों नहीं देना चाहती है। लोग जानना चाहते हैं। अगर संसद में नीतिगत फैसले नहीं होंगे, अगर वहां चर्चा नहीं होगी तो फिर कहां होगी? चर्चाएं चाय की रेड़ी पर नहीं संसद में होती हैं।”

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.