गन्ना बनाम जिन्ना: ‘जिन्ना के अनुयायी या गन्ने की मिठास, देश को करना होगा तय’- योगी आदित्यनाथ

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरूवार को जेवर एयरपोर्ट का शिलान्यास किया। मुक्कम्मल तौर से तैयार होने के बाद ये एशिया का सबसे बड़ा एयरपोर्ट बन जाएगा।

इस मौके पर जहां पीएम मोदी ने पूर्ववर्ती सरकारों को निशाना साधा वहीं राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सपा नेता अखिलेश यादव पर हमलावर दिखे।

उन्होंने इस मौके को भुनाते हुए अखिलेश यादव पर निशाना साधा और गन्ना बनाम जिन्ना का मुद्दा छेड़ा।

सीएम ने कहा, “यहां के किसानों ने कभी किसी कालखंड में यहां की गन्ना की मिठास को आगे बढ़ाने का प्रयास किया था. लेकिन गन्ने की मिठास को कुछ लोगों ने कड़वाहट में बदल कर के यहां पर दंगों की एक श्रृंखला खड़ी की थी. आज ये देश के अंदर नया द्वंद्व बना है कि देश गन्ना की मिठास को एक नई उड़ान देगा या जिन्ना के अनुयायियों से फिर दंगा करवाने की शरारत करवाएगा. और यही तय करने के लिए आप सब का आह्वान करने के लिए मैं यहां उपस्थित हूं.”

गौरतलब है कि सरदार वल्लभ भाई पटेल की 146वीं जयंती के मौके पर अखिलेश यादव ने मोहम्मद अली जिन्ना को लेकर बयान दिया था।

हरदोई में एक जनसभा को संबोधित करते हुए अखिलेश ने जिन्ना की तुलना राष्ट्रपिता महात्मा गांधी, सरदार पटेल और पूर्व प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू से की थी। उन्होंने कहा था कि इन सभी ने एक ही जगह से पढ़ाई की और बैरिस्टर बने। फिर भारत को आजादी दिलाने में मदद की और किसी भी संघर्ष से पीछे नहीं हटे।

सीएम योगी पहले भी इस मुद्दे को लेकर अखिलेश यादव से माफी मांगने की मांग कर चुके हैं।

हालांकि अखिलेश से जब इस बयान पर अपना रूख साफ़ करने के लिए कहा गया था तो उन्होंने लोगों को फिर से इतिहास पढ़ने की सलाह दी थी।

यहां भी पढ़ें: अखिलेश के ‘जिन्ना वाले बयान’ पर ओवैसी का तल्ख जवाब, सपा प्रमुख को इतिहास पढ़ना चाहिए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *