Advertisement

Uttarakhand: कड़े नियमों के साये में होगी चारधाम यात्रा, मंदिरों में मोबाइल, कैमरे पर लगेगा प्रतिबंध

Share
Advertisement

Dehradun: इस साल होने वाली चारधाम यात्रा में श्रद्धालुओं को सख्त नियमों का पालन करना पड़ेगा। बदरी केदार मंदिर समिति देश के चार प्रमुख मंदिरों की तर्ज पर चारों धाम में कड़े नियम लागू करने जा रही है। बदरी केदार मंदिर समिति के अध्यक्ष ने कहा है कि जल्दी ही इसकी एसओपी जारी की जाएगी।

Advertisement

इस साल 22 अप्रैल से शुरू होने वाली चारधाम यात्रा में चारों धाम के दर्शन के लिए सख्त गाइडलाइन जारी होने जा रही है। मुख्यमंत्री से चर्चा के बाद बद्री केदार मंदिर समिति इसकी मानक प्रचालन प्रक्रिया, एसओपी जारी करेगी. जिसके बाद मंदिरों में मोबाइल और कैमरा ले जाने पर प्रतिबंध लगाया जा सकता है। साथ ही पुजारियों के लिए खास ड्रेस कोड लागू हो सकता है। समिति का कहना है कि इस फैसले से मंदिरों की पवित्रता और मर्यादा बरकरार रहेगी।

बद्री केदार मंदिर समिति के अध्यक्ष अजेंद्र अजय ने बताया है कि देश के चार बड़े धार्मिक स्थलों वैष्णो देवी मंदिर, तिरुपति बालाजी मंदिर, सोमनाथ मंदिर और महाकालेश्वर मंदिर का समिति की टीमों ने दौरा किया था। टीमों ने ये अध्ययन किया कि इन मंदिरों में किस तरह की व्यवस्था है और वहां की मंदिर समिति अपने कामकाज का संचालन कैसे करती है। टीमों ने अपनी रिपोर्ट सौंप दी है जिसके आधार पर बद्री केदार मंदिर समिति जल्दी ही एसओपी जारी करेगी।

यूट्यूब और रील्स के बढ़ते चलन के बाद पिछली चारधाम यात्रा के दौरान कई ब्लॉगर और यूट्यूबर्स ने केदारनाथ मंदिर परिसर से कई वीडियो और रील्स बनाकर वायरल किए थे। जिनसे विवाद की स्थिति पैदा हो गई थी। वहीं कुछ वीडियो में ये दावा किया गया था कि मंदिर में पुजारियों ने दर्शन करवाने के एवज में पैसों की मांग की थी। इसलिए मंदिर समिति चारों धाम में मोबाइल और कैमरे पर पूरी तरीके से प्रतिबंध लगाने पर विचार कर रही है। साथ ही मंदिरों में बैठने वाले आचार्य और पुजारियों का एक जैसा ड्रेस कोड लागू करने पर भी गंभीरता से मंथन किया जा रहा है।

ये भी पढ़ें: पीएम मोदी ने विराट कोहली, रोहित शर्मा के साथ गाया राष्ट्रगान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *