Advertisement

Nalanda: काश… तुम समझ पाते साहिल… ये महज कुछ नंबर हैं, जिंदगी तो अभी और भी है…

Suicide by a Student

Suicide by a Student

Share
Advertisement

Suicide by a Student: मैट्रिक की परीक्षा में वह प्रथम श्रेणी में पास हुआ. नंबर भी ठीक ठाक आए थे लेकिन वो इन नंबरों से संतुष्ट नहीं था. काश कोई उसे समझा पाता कि यह महज नंबर हैं, जिंदगी का फलसफा नहीं. अभी तो उसे अपने हाथों से जिंदगी की इबारत लिखनी थी. कोई उसे बताता कि आज भी दुनिया में बहुत से लोग हैं जो एक कागज के पन्नों में लिखे कुछ नंबरों के नहीं तुम्हारे हुनर के कद्रदान हैं लेकिन वो कम नंबरों के आने से इस कदर गमज़दा हुआ कि उसने अपनी जिंदगी की डोर ही तोड़ ली. वो छोड़ गया पिता के दिल में एक टीस… काश वो उसके सिर को प्यार से सहलाते और हौंसला देते हुए कहते यह तो सिर्फ जिंदगी का एक अदना सा पड़ाव है, जिंदगी अभी और भी है…

Advertisement

दरअसल नालंदा में एक किशोर ने फांसी लगा सोमवार को खुदकुशी कर ली। मामला सिलाव थाना क्षेत्र अंतर्गत सुरुमपुर गांव का है। मृतक की पहचान सुरुमपुर गांव निवासी नागेंद्र सिंह के (15) वर्षीय पुत्र साहिल कुमार के रूप में की गई है।

घटना के संबंध में परिजन ने बताया कि मैट्रिक परीक्षा में कम अंक आने के कारण साहिल कुमार  असंतुष्ट था। रविवार की रात खाना खाने के उपरांत साहिल अपने कमरे में सोने चला गया। सुबह जब देर तक कमरे का दरवाजा नहीं खुला तो उन लोगों को अनहोनी की आशंका हुई। इसके बाद कमरे का दरवाजा खुलवाने का प्रयास किया गया लेकिन किसी प्रकार की प्रतिक्रिया अंदर से नहीं मिली। खिड़की से झांक कर जब देखा गया तो किशोर पंखे के सारे फंदे से लटका हुआ था।

इस मंजर को देख घर वालों के पैरों तले जमीन खिसक गई। आनन फानन में कमरे का दरवाजा तोड़कर किशोर के शव को बाहर निकाला गया. आसपास के लोगों को जब इस बात का पता लगा तो वो भी सन्न थे. कुछ लोगों ने घटना की जानकारी पुलिस को दी. इसके बाद शव को कब्जे में लेकर उसका पोस्टमार्टम कराया गया.

घर वालों ने बताया कि साहिल कुमार तीन भाई में सबसे बड़ा था। उसने फर्स्ट डिवीजन से मैट्रिक की परीक्षा पास की थी। लेकिन संतोषजनक नंबर नहीं आने की वजह से वो दुखी था. घटना के बाद परिवार वालों में कोहराम मच गया है। परिजनों के चित्कार से गांव का माहौल गमगीन हो गया है।

वहीं इस मामलें में सिलाव थाना अध्यक्ष इरफान खान ने बताया की मौत की सूचना पर पुलिस घटनास्थल पर पहुंची और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए बिहार शरीफ सदर अस्पताल भेज दिया गया। परिजनों का कहना है कि मैट्रिक परीक्षा में कम अंक आने के कारण किशोर ने फांसी लगा खुदकुशी कर ली है। यूडी केस दर्ज कर पुलिस अग्रिम कार्रवाई में जुट गई है।

रिपोर्टः आशीष कुमार, संवाददाता, नालंदा, बिहार

यह भी पढ़ें: नौ साल से रोज़ा रख रहे अमरदीप, दोस्त के कहने पर की थी शुरुआत

Hindi Khabar App: देश, राजनीति, टेक, बॉलीवुड, राष्ट्र,  बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल, ऑटो से जुड़ी ख़बरो को मोबाइल पर पढ़ने के लिए हमारे ऐप को प्ले स्टोर से डाउनलोड कीजिए. हिन्दी ख़बर ऐप

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *