Advertisement

माताओं-बहनों के बिना खेती की कल्पना भी असंभव : PM मोदी

PM Modi in Varanasi

PM Modi in Varanasi

Share
Advertisement

PM Modi in Varanasi: लोकसभा चुनाव-2024 के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहली बार वाराणसी पहुंचे. यहां उन्होंने किसान सम्मान निधि की 17वीं किस्त जारी की. इस दौरान यूपी के CM योगी आदित्यनाथ और केंद्रीय कृषि मंत्री शिवराज सिंह चौहान भी मौजूद रहे. इस दौरान PM मोदी ने जनता को संबोधित किया.

Advertisement

उन्होंने कहा कि चुनाव जीतने के बाद आज पहली बार बनारस आया हूं। मैं बनारस की जनता को नमस्कार करता हूं. काशीवासियों के असीम स्नेह से मुझे तीसरी बार देश का प्रधान सेवक बनने का सौभाग्य मिला है। काशी के लोगों ने मुझे लगातार तीसरी बार अपना प्रतिनिधि चुनकर धन्य कर दिया है। अब तो मां गंगा ने भी जैसे मुझे गोद ले लिया है, मैं यहीं का हो गया हूं.

PM मोदी ने कहा, काशी के लोगों ने तो सिर्फ सांसद नहीं बल्कि तीसरी बार प्रधानमंत्री भी चुना है इसलिए आप लोगों को डबल बधाई। इस चुनाव में देश के लोगों ने अभूतपूर्व जनादेश दिया है. कहा, यहां इतनी बड़ी संख्या में हमारी माताएं-बहनें उपस्थित हैं। माताओं-बहनों के बिना खेती की कल्पना भी असंभव है। इसलिए अब खेती को नई दिशा देने में भी माताओं-बहनों की भूमिका का विस्तार किया जा रहा है। नमो ड्रोन दीदी की तरह ही कृषि सखी कार्यक्रम ऐसा ही एक प्रयास है।

उन्होंने कहा, हमने आशा कार्यकर्ताओं के रूप में बहनों का काम देखा है। हमने बैंक सखियों के रूप में डिजिटल इंडिया बनाने में बहनों की भूमिका देखी है। अब हम कृषि सखी के रूप में खेती को नई ताकत मिलती देखेंगे। आज 30 हजार से अधिक सहायता समूहों को कृषि सखी के रूप में प्रमाणपत्र दिए गए हैं। अभी 12 राज्यों में ये योजना शुरू हुई है। आने वाले समय में पूरे देश में हजारों समूहों को इससे जोड़ा जाएगा। ये अभियान 3 करोड़ लखपति दीदीयां बनाने में भी मदद करेगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा, अभी मैं जी7 की बैठक में हिस्सा लेने के लिए इटली गया था। G7 के सारे देशों के सभी मतदाताओं को मिला दें, तो भी भारत में वोटर्स की संख्या 1.5 गुना ज्यादा होगी.

यह भी पढ़ें: वाराणसी पहुंचे PM मोदी ने किसान सम्मान निधि की 17वीं किस्त की जारी, कृषि सखियों को दिए प्रमाणपत्र

Hindi Khabar App: देश, राजनीति, टेक, बॉलीवुड, राष्ट्र,  बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल, ऑटो से जुड़ी ख़बरों को मोबाइल पर पढ़ने के लिए हमारे ऐप को प्ले स्टोर से डाउनलोड कीजिए. हिन्दी ख़बर ऐप

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *