Advertisement

Bihar: अगर पप्पू यादव पूर्णियां से भरेंगे नामांकन तो क्या करेगी कांग्रेस?

Pappu yadav nomination

Pappu yadav nomination

Share
Advertisement

Pappu yadav nomination: बिहार की सियासत में हाजीपुर के बाद अब पूर्णियां हॉट सीट बन गई है. पप्पू यादव ने पहले ही चार अप्रैल को इस लोकसभा सीट से नामांकन करने की घोषणा कर दी थी. ऐसे में देखने वाली बात यह होगी कि आखिर कांग्रेस उनके इस कदम पर उनके खिलाफ क्या एक्शन लेती है या ले पाती है.

Advertisement

दरअसल पहले एनडीए में एलजेपी (आर) और आरएलजेपी में हाजीपुर सीट को लेकर तनातानी देखने को मिली. चिराग पासवान और उनके चाचा पशुपति कुमार पारस दोनों ही इस सीट पर दावेदारी कर रहे थे. हालांकि बाद में यह सीट चिराग के खाते में गई. पशुपति कुमार पारस ने भी शुरू में नाराजगी दिखाई और मंत्री पद इस्तीफा दिया लेकिन बाद में वह एनडीए में ही रहे. उन्होंने पीएम मोदी जी को ही अपना नेता बताया.

वहीं पूर्णियां की कहानी इससे थोड़ी अलग है. यहां से आरजेडी ने बीमा भारती को टिकट दिया. पप्पू यादव कांग्रेस और आरजेडी से गुहार लगाते रहे लेकिन उनकी नहीं सुनी गईं. इसके बाद भी पप्पू यादव ने लालू के प्रति सम्मान व्यक्त किया लेकिन दूसरी ओर ऐलान भी कर दिया कि चार अप्रैल को पूर्णियां से नामांकन करूंगा. दुनिया छोड़ दूंगा पर पूर्णियां नहीं छोड़ूंगा. ऐसे में पूरी उम्मीद है कि पप्पू यादव कल यानि चार अप्रैल को पूर्णियां लोकसभा सीट से नामांकन करेंगे.

यदि पप्पू यादव ऐसा करते हैं तो कांग्रेस उनके खिलाफ एक्शन लेगी या नहीं. या यूं कहें कि एक्शन लेने की स्थिति में है या नहीं. सूत्रों की मानें तो पप्पू यादव ने अपनी पार्टी का विलय कांग्रेस में करने की घोषणा तो की लेकिन विलय अभी आधिकारिक रूप से हुआ नहीं है.

इसके लिए पप्पू यादव को सदाकत आश्रम, पटना जाकर औपचारिकता पूरी करनी थी, जो कि अभी नहीं हुई है. अगर ऐसा है तो कांग्रेस पप्पू यादव पर चाह कर भी कोई एक्शन नहीं ले पाएगी. वहीं पूर्णियां की सीट न मिलने से पप्पू यादव का भी कांग्रेस से मोह भंग हो गया है. अब यह तो कल ही पता चलेगा कि पप्पू यादव अपने ऐलान पर कायम रहते हैं या कुछ और होता है.

वहीं आरजेडी के तेजस्वी यादव भी बिना नाम लिए पप्पू यादव के खिलाफ नाराजगी जाहिर कर चुके हैं. ऐसे में पप्पू यादव आरजेडी खेमे में जा सकेंगे इसकी उम्मीद भी कम ही दिखाई देती है. तेजस्वी ने बिना नाम लिए कहा था जो हमारे खिलाफ है मतलब वो बीजेपी के साथ है.

यह भी पढ़ें: सुशील मोदी जुझारू और संघर्षशील प्रवृति के धनी, ईश्वर उन्हें जल्दी स्वस्थ करे- लालू प्रसाद यादव

Hindi Khabar App: देश, राजनीति, टेक, बॉलीवुड, राष्ट्र,  बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल, ऑटो से जुड़ी ख़बरो को मोबाइल पर पढ़ने के लिए हमारे ऐप को प्ले स्टोर से डाउनलोड कीजिए. हिन्दी ख़बर ऐप

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

अन्य खबरें