Advertisement

MP: जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल के बयान पर तुषार गांधी का पलटवार, कहा- जाहिलों को राज्यपाल बनाएंगे तो यही होगा

Share
Advertisement

जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने कहा कि महात्मा गांधी के पास कोई डिग्री नहीं थी। सिन्हा गुरुवार को ग्वालियर की ITM यूनिवर्सिटी में एक कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए थे। उन्होंने कहा- बहुत लोगों को, वो भी पढ़े-लिखे लोगों को यह भ्रांति है कि गांधीजी के पास लॉ की डिग्री थी, लेकिन यहां मैं बता रहा हूं कि उनके पास कोई डिग्री नहीं थी। गांधीजी सिर्फ हाई स्कूल डिप्लोमा किए थे। जवाब में गांधी जी के प्रपौत्र तुषार गांधी ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि जाहिलों को राज्यपाल बना देंगे तो यही नतीजा होगा।

Advertisement

खण्ड-2 पुस्तक का हुआ विमोचन

गुरुवार को ITM यूनिवर्सिटी में डॉ. राम मनोहर लोहिया की स्मृति में चांसलर रमाशंकर सिंह द्वारा संपादित डॉ. राम मनोहर लोहिया-रचनाकारों की नजर में खण्ड-2 पुस्तक का विमोचन हुआ। इसी कार्यक्रम में उपराज्यपाल मनोज सिन्हा बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए थे। यहां पुस्तक का विमोचन करने के बाद सिन्हा सबसे पहले महात्मा गांधी पर बोले। उन्होंने कहा, गांधीजी सिर्फ हाई स्कूल डिप्लोमा किए थे। अब यहां बैठे लोग मुझसे सवाल करेंगे तो मैं यह बात पूरे तथ्यों के साथ कह रहा हूं, इसका आधार है मेरे पास।

गांधी जी के प्रपौत्र बोले- उनके पास लॉ की डिग्री थी

उपराज्यपाल मनोज सिन्हा के इस बयान पर महात्मा गांधी के प्रपौत्र तुषार गांधी कहा कि जाहिलों को राज्यपाल बना देंगे तो यही नतीजा होगा। उनके पास लॉ की डिग्री थी, लेकिन इसकी एन्टॉयर लॉ डिग्री जरूर नहीं थी। जैसी मोदी जी के पास पॉलिटिकल साइंस की एन्टॉयर लॉ डिग्री है। उन्होंने कहा कि बापू ने अपनी डिग्री से लेकर अपने जीवन से जुड़ी हर बात अपनी आत्मकथा में लिखी है। इसकी एक प्रति मैं मनोज सिन्हा को भेज दूंगा, ताकि वे अपनी समझ बढ़ा सकें।

उन्हें जो किरदार दिया गया है, उसे वो वफादारी से निभा रहे

तुषार गांधी ने कहा, ‘उपराज्यपाल जी के लिए यह जानना बहुत जरूरी है कि बापू ने राजकोट के अलफ्रेड हाईस्कूल से भारतीय मैट्रिक, उस जमाने की भारतीय मैट्रिक पास की थी। उसके बाद वो इंग्लैंड गए थे, वहां लंदन यूनिवर्सिटी के साथ संलग्न इनर टेम्पल में से लॉ की पढ़ाई करके, परीक्षा पास करके लॉ की डिग्री हासिल की थी। उसके साथ साथ उन्होंने दो डिप्लोमा भी लिए थे। एक डिप्लोमा लैटिन भाषा में था और दूसरा फ्रेंच भाषा में था। ये सारी चीजें आत्मकथा में दर्ज हैं।

ये भी पढ़े: BJP कार्यकर्ताओं पर कांग्रेसियों ने फेंके पत्थर-अंडे, BJYM जिला अध्यक्ष घायल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

अन्य खबरें