Advertisement

MP में 42 नए कोरोना पॉजिटिव मिले, 250 के पार हुए एक्टिव केस

Share
Advertisement

इंदौर में 95 दिन बाद कोविड से मरीज की मौत हुई है। यहां 98 वर्षीय एक महिला ने दम तोड़ दिया। इससे पहले 7 जनवरी 2023 को इंदौर में एक कोविड पॉजिटिव मरीज की मौत हुई थी। मध्यप्रदेश में कोरोना के मरीज एक बार फिर बढ़ने लगे हैं। शुक्रवार को प्रदेश में 42 नए संक्रमित मिले हैं। यह खुलासा स्टेट कोविड हेल्थ बुलेटिन रिपोर्ट में हुआ है। स्वास्थ्य संचालनालय के अफसरों ने बताया कि प्रदेश में कोविड के एक्टिव केस की संख्या बढ़कर 250 के पार हो गई है।

Advertisement

भोपाल में बीते एक सप्ताह से लगातार रोजाना 10 से ज्यादा नए कोविड संक्रमित मरीज मिल रहे हैं। शुक्रवार को भी राजधानी में कोरोना के 15 नए मरीज मिले हैं। यहां एक्टिव मरीजों की संख्या 93 हो गई है। इंदौर में कोरोना के 7 नए मरीज मिलने के बाद एक्टिव केस की संख्या 55 हो गई है। इंदौर में बीते 24 घंटे में कोरोना से एक मरीज की मौत हो गई। सीएमएचओ इंदौर डॉ. बीएस सैत्या ने बताया कि 98 वर्षीय एक महिला की मौत कोविड से हुई है। वह कोकिलाबेन हॉस्पिटल में भर्ती थी। मरीज को कोविड के अलावा दूसरी गंभीर बीमारियां भी थीं। दूसरी बीमारियों और कोविड के संक्रमण से महिला के शरीर के कई अंगों ने काम करना बंद (मल्टी आर्गन फेलियर) कर दिया था। इसके साथ ही इंदौर में कोरोना से मरने वालों का आंकड़ा 1471 हो गया है।

आपको बता दें, दो दिन पहले भोपाल में कोरोना से एक 80 वर्षीय महिला की मौत हुई थी। वह कस्तूरबा अस्पताल में भर्ती थी। स्वास्थ्य संचालनालय की रिपोर्ट के अनुसार प्रदेश में कोविड के संक्रमण की शुरुआत से अब तक 10779 लोगों की मौत कोरोना से हुई है। इंटीग्रेटेड डिसीज सर्विलांस प्रोग्राम के अफसरों ने बताया कि प्रदेश में कोरोना का एक मरीज इंदौर और 4 मरीज भोपाल के अलग-अलग अस्पताल में भर्ती हैं। इन पांचों मरीजों की सेहत फिलहाल स्थिर है। एक भी मरीज आक्सीजन सपोर्ट पर नहीं है। सभी को सामान्य आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है।

इंटीग्रेटेड डिसीज सर्विलांस प्रोग्राम (आईडीएसपी) अफसरों ने बताया कि प्रदेश में कोरोना के 261 मरीज होम आइसोलेशन में हैं। इन सभी की सेहत स्थिर है। इन मरीजों ने सामान्य सर्दी, खांसी होने की शिकायत होने पर कोविड की जांच कराई थी। अफसरों के मुताबिक होम आइसोलशन में रह रहे सभी कोविड मरीजों की सेहत सामान्य है। एक भी मरीज ने अब तक सांस लेने में तकलीफ अथवा शरीर में ऑक्सीजन लेवल कम होने की शिकायत नहीं की है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *