Advertisement

Madhya Pradesh में मोहन यादव के CM बनने पर, क्या दिल्ली जाने वाले हैं मामा शिवराज ?

mohan yadav and shivraj singh chouhan

mohan yadav and shivraj singh chouhan

Share
Advertisement

Madhya Pradesh: कई दिनों के मंथन और पर्यवेक्षकों की मदद के साथ मध्यप्रदेश के विधायकों ने आखिकार विधायक दल का नेता चुन लिया है। राजधानी भोपाल में हुई विधायक दल की बैठक में सबको चौंकाते हुए उज्जैन दक्षिण से विधायक मोहन यादव को मध्यप्रदेश का नया सीएम चुना गया है। सूत्रों की माने तो मोहन यादव का नाम खूद सूबे के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दिया है।

Advertisement

लेकिन अब सबसे बड़ा सवाल यह उठ रहा है कि मध्यप्रदेश में लाडली बहना जैसी योजनाओं से सत्तावापसी का राह दिखाने वाले मामा का अब मध्यप्रदेश में क्या होगा ? क्या शिवराज सिंह चौहान अभी भी राज्य की राजनीति में अपनी भूमिका निभाते रहेंगे या फिर बीजेपी हाई कमान का उनको लेकर कुछ अलग प्लान है। वैसे कयास यह भी है कि पार्टी हाई कमान उन्हें दिल्ली बुला सकता है लेकिन, शिवराज पहले ही कह चुके हैं उन्हें दिल्ली की राजनीति में कोई दिलचस्पी नहीं है।

2024 चुनाव में पीएम मोदी को गिफ्ट देना चाहते हैं शिवराज

एमपी में चुनाव के तुरंत बाद सीएम शिवराज से जब दिल्ली जाने के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा था कि यह समय अभी दिल्ली जाने का नहीं बल्कि छिंदवाड़ा जाने का है। उन्होंने 2019 के लोकसभा चुनाव को याद करते हुए कहा था कि बीजेपी ने पिछली बार प्रदेश की 29 में से 28 सीटें अपने नाम की थी। जहां छिंदवाड़ा सीट हमसे छूट गई थी लेकिन इस बार हम प्रधानमंत्री मोदी को प्रदेश की 29वीं सीट का तोहफा देना चाहते है।

केंद्र सौंप सकता है बड़ी जिम्मेदारी

मध्यप्रदेश में बीजेपी ने अपने उम्मीदवारों की लिस्ट जारी करते हुए केंद्रीय मंत्रियों से लेकर सांसदों को मैदान पर उतार दिया था। अब चुनाव में जीत हासिल करने वाले केंद्रीय मंत्री रहे नरेंद्र सिंह तोमर और प्रहलाद सिंह पटेल ने केंद्रीय मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया है। इसका मतलब साफ है कि अब ये दोनों की कद्दावर नेता दिल्ली से अलग मध्यप्रदेश की राजनीति में सक्रिय रहेंगे, ऐसे में शिवराज सिंह को इन नेताओं की जगह मंत्री बनाए जाने की सुगबुगाहट तेज हो गई है।

खुद को सीएम रेस से किया था अलग  

एमपी में बंपर जीत के बाद जब सीएम रेस में नामों की चर्चा हुई तो उसमें पूर्व केंद्रीय मंत्रियों नरेंद्र सिंह तोमर, प्रहलाद सिंह पटेल और ज्योतिरादित्य सिंधिया के अलावा मामा शिवराज की चर्चा पर खूब हो रही थी लेकिन शिवराज सिंह ने यह भी स्पष्ट कर दिया था कि वह सीएम पद की रेस में नहीं हैं। जिससे उनके दिल्ली जाने की संभावनाओं को बल मिलना शुरू हो गया था।

ये भी पढ़ें – https://hindikhabar.com/state/omar-abdullah-on-article-370-verdict-latest-news-in-hindi/

FOLLOW US  ON – https://twitter.com/HindiKhabar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

अन्य खबरें