Advertisement

Bihar: गर्मी के मद्देनजर CM नीतीश का निर्देश, अब 8 जून तक नहीं होगा स्कूल और आंगनबाड़ी में शिक्षण कार्य

Direction by CM Nitish

Direction by CM Nitish

Share
Advertisement

Direction by CM Nitish: 29 मई, बुधवार को पटना में सीएम नतीश कुमार ने भीषण गर्मी, भयंकर लू के मद्देनजर स्कूलों को बंद करने के निर्देश दिए हैं.

Advertisement

सीएम ने कहा, भीषण गर्मी और भयंकर लू की चपेट से राज्य में आपदा की स्थिति बन रही है। इसके मद्देनजर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मुख्य सचिव ब्रजेश मेहरोत्रा को निर्देश दिया है कि आवश्यकतानुसार वर्तमान स्थिति को देखते हुए स्कूलों को बंद करने के संबंध में समुचित कार्रवाई सुनिश्चित करें.

उन्होंने कहा, ताकि स्कूली बच्चों का स्वास्थ्य प्रभावित न हो मुख्यमंत्री ने मुख्य सचिव को यह भी निर्देश दिया है कि वे क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक आयोजित कर वर्तमान परिप्रेक्ष्य में अन्य आवश्यक कार्रवाई सुनिश्चित करें।

इस संबंध में अपर मुख्य सचिव, शिक्षा विभाग, बिहार ने एक पत्र जारी कर आंगनबाड़ी और सरकारी एवं निजी विद्यालयों (कोंचिग संस्थान सहित) को एक निर्देश जारी किया है. वहीं जिलाधिकारियों को इस निर्देश का पालन सुनिश्चित कराने के लिए निर्देशित किया है.

पत्र में बताया गया कि विगत कुछ दिनों से अप्रत्याशित भीषण गर्मी के साथ लू (Heat wave) के प्रकोप में बिहार राज्य के अधिकांश जिले हैं। कतिपय जिलों में यथा गया, औरंगाबाद, कैमूर में तापमान 46°C से ज्यादा दर्ज किया जा रहा है। यही स्थिति कमोबेश अन्य सभी जिलों की भी है। दिनांक 29.05.2024 को आहूत आपदा प्रबंधन समूह (CMG) की बैठक में IMD (भारतीय मौसम विज्ञान विभाग) के प्रतिनिधि के द्वारा यह अनुमान बताया गया है कि ऐसी स्थिति 8 जून, 2024 तक बने रहने की संभावना है। अतः यह निर्णय लिया गया है कि सभी सरकारी एवं निजी विद्यालय (कोचिंग संस्थान सहित) एवं आंगनबाड़ी केन्द्रों में 30 मई, 2024 से 8 जून, 2024 तक शिक्षण कार्य बन्द रखा जाए ताकि भीषण गर्मी के प्रकोप से बच्चों को बचाया जा सके। इस संबंध में आपदा प्रबंधन विभाग, बिहार, पटना के द्वारा निर्गत पत्रांक 929 / आ०प्र० दिनांक 04.04.2024 की कंडिका 4 एवं 5 का भी संदर्भ लिया जाए।

जिलाधिकारियों को निर्देश दिया कि भीषण गर्मी एवं लू से बचाव हेतु आपदा प्रबंधन विभाग, बिहार, पटना के पत्रांक 929/आ०प्र० दिनांक 04.04.2024 के माध्यम से निर्गत गाईडलाईन तथा इस संबंध में विभिन्न विभागों के द्वारा निर्गत मानक संचालन प्रक्रिया (SOP) / मार्गदर्शिका के अनुरूप कार्रवाई करना सुनिश्चित किया जाए।

यह भी पढ़ें: ‘माता-बहनों के एकाउंट में एक लाख पहुंचेगा खटाखट-खटाखट, ये लोग डकार गए पैसा गटागट-गटागट’

Hindi Khabar App: देश, राजनीति, टेक, बॉलीवुड, राष्ट्र,  बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल, ऑटो से जुड़ी ख़बरों को मोबाइल पर पढ़ने के लिए हमारे ऐप को प्ले स्टोर से डाउनलोड कीजिए. हिन्दी ख़बर ऐप

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

अन्य खबरें