Advertisement

बिहार के युवक की सऊदी में मौत, मरने से पहले वीडियो में कहा… ‘हम किसी के बहकावे में यहां…’

Death in Saudi Arabia

मृतक का फाइल फोटो(बाएं)

Share
Advertisement

Death in Saudi Arabia: बिहार के मूल निवासी एक युवक की सऊदी अरब में मौत हो गई है. उसकी मौत से पहले उसके द्वारा बनाया गया एक वीडियो वायरल है. इसमें वो लोगों से सऊदी अरब न आने की अपील करता नजर आ रहा है. परिजनों ने उसके शव को भारत लाने की गुहार लगाई है.

Advertisement

सदर प्रखंड मुख्यालय अंर्तगत सुपौल जिले के बसंतपुर पंचायत के वॉर्ड संख्या 04 रघुनाथपुर निवासी 47 वर्षीय लाल बहादुर साह 4 जुलाई 2023 को सऊदी अरब मजदूरी करने के लिए गए, जहां उसकी मौत हो गई. वही उसकी मौत की ख़बर परिजन को 1 मई  को मिली. इसके बाद परिजनों में कोहराम मच गया और शव को लाने के लिए गुहार करने लगे.

मरने से पहले उस शख्स एक कथित वीडियो सामने आया था. जिसमें वो कहता नजर आ रहा है कि कोई भी व्यक्ति कमाने के लिए सऊदी अरब नहीं आना. जिसको यहां की भाषा नहीं आती उनको प्रताड़ित किया जाता है। हम किसी के बहकावे में यहां आकर फंस गए हैं. यहां कितना भी काम करो, शाम को मालिक हर बात पर मजदूर की पिटाई करते हैं। परिजनों ने बताया की वीडियो भेजे जाने के कुछ ही दिनों के बाद लालबहादुर साह की सऊदी अरब में मौत हो गई।

दरअसल मजदूरी करने सऊदी अरब गए सुपौल के एक मजदूर की सऊदी के रफा में मौत के बाद परिजनों में कोहराम मचा हुआ है। बताया जाता है कि शव को मृतक के घर अब तक भेजा नहीं गया है। लिहाजा परिजन सरकार से शव लाने की गुहार लगा रहे हैं.

मृतक के परिजन और ग्रामीणों का आरोप है कि गांव के ही डोमन सा उसे सऊदी अरब ले गया था. सऊदी अरब पहुंचने के कुछ ही दिनों के बाद लाल बहादुर शाह ने परिजन को एक वीडियो बनाकर भेजा. इसमें कहा कि जो लोग मजदूरी करने के लिए सऊदी अरब आ रहे हैं वह यहां मत आइए क्योंकि यहां भारत के मजदूर के साथ मारपीट किया जाती है.

मृतक की पत्नी का आरोप है कि डोमन साह उसके पति का टूरिस्ट विजा बनाकर मजदूरी करवाने सऊदी ले गया था। जबकि टूरिस्ट विजा की समय सीमा केवल तीन माह होती है। सऊदी अरब से 1 मई को यह ख़बर आई कि 25 अप्रैल को लालबहादुर साह की मौत हो गई है। बताया गया की लालबहादुर का शव रफा के एक अस्पताल में रखा हुआ है। उसके शव को घर भेजा नहीं जा रहा है।

मालूम हो कि मृतक लाल बहादुर साह की माली हालत ठीक नहीं थी। जिसके चलते वो कमाने के लिए सऊदी गया। घरवाले लालबहादुर पर ही आश्रित थे। मृतक लालबहादुर  के 07 पुत्री और एक पुत्र हैं। परिजनों ने सरकार से लालबहादुर के शव को घर मंगवाने की गुहार लगाई है. मुआवजे की भी मांग कर रहे हैं।

रिपोर्टः कुणाल कुमार, संवाददाता, सुपौल, बिहार

यह भी पढ़ें: Nagpur: सुनसान इलाके में ऑटो चालक ने की स्कूली छात्रा से छेड़छाड़, गिरफ्तारी में एक Logo बना मददगार

Hindi Khabar App: देश, राजनीति, टेक, बॉलीवुड, राष्ट्र,  बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल, ऑटो से जुड़ी ख़बरों को मोबाइल पर पढ़ने के लिए हमारे ऐप को प्ले स्टोर से डाउनलोड कीजिए. हिन्दी ख़बर ऐप

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *