Advertisement

संस्कार भूल गए हैं अब्दुल बारी सिद्दीकी- केंद्रीय मंत्री अश्वनी चौबे

Counterattack on Siddiqui’s Statement

Counterattack on Siddiqui’s Statement

Share
Advertisement

Counterattack on Siddiqui’s Statement: अब्दुल बारी सिद्दीकी के एक जनसभा के दौरान महिलाओं पर दिए गए विवादित बयान पर केंद्रीय मंत्री और बीजेपी नेता अश्वनी चौबे ने प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा कि दरअसल आरजेडी नेता अब्दुल बारी सिद्दीकी शायद संस्कार भूल चुके हैं। शनिवार को पटना हवाई अड्डे पर मीडिया से रूबरू होते हुए अश्वनी चौबे ने कहा कि उनके संस्कार सचमुच में खो गए हैं।

Advertisement

Counterattack on Siddiqui’s Statement: महिलाओं का अपमान बर्दाश्त नहीं

सिद्दीकी जेपी आंदोलन में भी थे। महिलाओं को हम लोगों ने हर तरह से स्थान दिया है और आज वह भूल गए। चौबे ने कहा कि महिलाओं के बारे में इस प्रकार की अभद्र टिप्पणी, यह दुर्भाग्यपूर्ण है। महिलाओं का अपमान, यह बर्दाश्त नहीं होगा। इस बात का खामियाजा भुगतना पड़ जाएगा।

‘सरकार चलाने वाले मंत्री ही चलाते हैं सरकार’

अश्वनी चौबे ने कहा कि राहुल गांधी को उसी दिन जवाब मिल गया था जब संसद में उन्होंने ओबीसी का मुद्दा उठाया था कि सरकार सचिव नहीं चलाते हैं। जो सरकार चलाने वाले मंत्री होते हैं। वह सरकार चलाते हैं। पिछड़ों, अति पिछड़ों, अनुसूचित जाति को आज तक उतना स्थान नहीं मिला था, जितना स्थान नरेंद्र मोदी की सरकार में है। उन्होंने कहा कि यह लोग जो सनातन धर्म का अपमान कर रहे हैं, ये दिखा रहे हैं कि इनका चिंतन क्या है।

आखिर अब्दुल बारी सिद्दीकी ने क्या कहा था

अब्दुल बारी सिद्दीकी ने ग्रामीण अंचल में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा था कि महिला आरक्षण बिल में पिछड़ा, अति पिछड़ा और दूसरों की बात करना भी बेहद जरूरी है नहीं तो बॉब कट और लिपस्टिक लगाने वाली महिलाएं आपका हक ले जाएंगी।

बाद में बयान पर दी थी सफाई

हालांकि अब्दुल बारी सिद्दीकी ने बाद में अपने बयान पर सफाई दी थी। उन्होंने कहा था कि उनका मकसद किसी को ठेस पहुंचाना नहीं था। उन्होंने गांव में अपनी बात समझाने के लिए ऐसा कहा था।

रिपोर्टःसुजीत कुमार,ब्यूरोचीफ, बिहार

ये भी पढ़ेःबिहार में बयानों की बहारः भाई वीरेंद्र की गिरिराज सिंह पर विवादित टिप्पणी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *