Advertisement

Bihar: बक्सर में शव की दुर्गंध के बीच इलाज करने-करवाने को मजबूर चिकित्सक और मरीज

Buxar News

Buxar News

Share
Advertisement

Buxar News:  भीषण गर्मी में मरीजों की संख्या अस्पतालों में रोज बढ़ रही है. उल्टी-दस्त और बुखार की शिकायत लिए मरीज अस्पताल में भर्ती हो रहे हैं. वहीं बक्सर में मरीजों की पीड़ा कुछ अलग और हैरान करने वाली है. यहां जिस वार्ड में मरीजों का इलाज किया जा रहा है. वहां एक महिला का शव तकरीबन दो दिन से रखा है. शव से दुर्गंध आ रही है. लेकिन डॉक्टर इसी स्थिति में इलाज करने को और मरीज इलाज कराने को मजबूर हैं. वहीं तीमारदारों को भी इस परेशानी से दो-चार होना पड़ रहा है फिर भी वह शव वहां से हटाया नहीं जा रहा.

Advertisement

दरअसल बक्सर जिले के चौसा निवासी एक महिला की सदर अस्पताल में मौत के बाद लगभग 24 घंटे बाद भी न तो परिजन और न ही पुलिस शव अस्पताल से हटा सकी है. ऐसे में महिला के मृत शरीर से अब तेज दुर्गंध भी आने लगी है और इसी दुर्गंध के बीच चिकित्सक दूसरे मरीजों का इलाज करने को मजबूर हैं जबकि मरीजों के स्वजन दुर्गंध के बीच खड़े होकर व्यवस्था को कोसते नजर आ रहे हैं.

अस्पताल के प्रशासनिक सूत्र बताते हैं कि महिला का शव मंगलवार की रात से ही अस्पताल में पड़ा है. कई बार पुलिस को सूचना दी गई लेकिन अब तक पुलिस भी नहीं पहुंची. समस्या यह है कि जिन परिस्थितियों में महिला के परिजन शव को छोड़कर भागे हैं ऐसे में बिना कागजी कार्रवाई के उसे हटाना भी विधि सम्मत नहीं है.

मामले में अस्पताल सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक बीती रात तकरीबन 11:00 बजे चौसा निवासी संतोष कुमार अपनी पत्नी संतोषी कुमारी(30) को लेकर पहुंचे हुए थे. चिकित्सकों ने कुछ देर में संतोषी को मृत घोषित कर दिया लेकिन परिजन शव अस्पताल में ही छोड़ कर चले गए.

ऐसे में मंगलवार रात लगभग 11:15 से लेकर बुधवार की रात लगभग 12:30 बजे तक उसका शव अस्पताल से हटाया नहीं जा सका. ऑन ड्यूटी चिकित्सक के साथ ही अस्पताल प्रबंधन द्वारा भी नगर थाने की पुलिस को कई बार सूचना दी गई. खास बात यह है कि नगर थाने के सब इंस्पेक्टर संजय विकास त्रिपाठी ने संदर्भ में अस्पताल प्रबंधन से जुड़े लोगों से बातचीत भी की, लेकिन शव को हटाने की दिशा में कोई पहल नहीं की गई.

अस्पताल में मौजूद एंबुलेंस चालक आल्हा ने बताया कि वह सुबह से शव पड़ा हुआ देख रहे हैं. दुर्गंध से मरीजों तथा अस्पताल कर्मियों को काफी परेशानी हो रही है लेकिन अब तक शव को हटाने का कोई प्रबंध नहीं किया गया.

डॉ सुरेश चंद्र सिन्हा, सिविल सर्जन ने कहा, इस तरह के मामलों में पुलिस को सूचना दी जाती है जिसके बाद पुलिस आगे की कार्रवाई करती है. अस्पताल उपाधीक्षक को पुनः पुलिस से संपर्क कर शव हटवाने का निर्देश दिया गया है. पुलिस के अनुसार मामले की जानकारी ली जा रही है, जिसके आधार पर आगे के कार्रवाई की जाएगी.

रिपोर्टः चंद्रकांत, संवाददाता, बक्सर, बिहार

यह भी पढ़ें: प्रधानमंत्री की नाक के नीचे दिल्ली के लोगों को उनके हक का पानी न मिलना बेहद शर्मनाक : संजय सिंह, AAP

Hindi Khabar App: देश, राजनीति, टेक, बॉलीवुड, राष्ट्र,  बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल, ऑटो से जुड़ी ख़बरों को मोबाइल पर पढ़ने के लिए हमारे ऐप को प्ले स्टोर से डाउनलोड कीजिए. हिन्दी ख़बर ऐप

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *