Amritpal ने फिर दिया जहरीला बयान, ‘’भारत का अभिन्न अंग नही है पंजाब’’

Amritpal

Amritpal

Share

खालिस्तान समथर्क और सिख उपदेशक अमृतपाल सिंह द्वारा भारत के खिलाफ विवादित एक बार फिर बयान देते हुए नज़र आए। इस बार उन्होंने कहा है कि पंजाब भारत का अभिन्न अंग ही नहीं है। वह इसी बात पर नही रुके उन्होंने आगे कहा कि लाहौर और ननकाना साहिब के बिना पंजाब की तस्वीर नहीं बनती है। इससे पहले की बात करें तो अमृतपाल ने कहा था कि वह अपने आपको भारतीय नहीं मानता है। एक न्यूज एजेंसी को दिए साक्षात्कार में अमृतपाल ने कहा था कि भारतीय पासपोर्ट एक दस्तावेज है और इससे वह भारतीय नहीं बन जाता।

पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष अमरिंदर सिंह कहा

बता दें कि पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष अमरिंदर सिंह राजा वड़िंग ने बुधवार को डीजीपी को पत्र लिखकर अजनाला थाने में हुए हमले की जांच की मांग की है। उन्होंने कहा, ‘अमृतपाल के साथी तुफान सिंह के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था और बाद ने पुलिस ने ही उसे छोड़  दिया। सवाल ये उठता है कि क्या तुफान सिंह निर्दोष था?’ पत्र में राजा वड़िंग ने पंजाब का माहौल खराब होने की भी आशंका जाहिर की है। राजा वड़िंग ने कहा कि अमृतपाल के समर्थकों के खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए।

अमृतपाल सिंह के खुद को भारतीय न मानने के बयान दिया तो इस  पर पूर्व राजनयिक केसी सिंह ने कहा है कि कट्टरपंथी सिख उपदेशक और स्वयंभू अलगाववादी अमृतपाल सिंह को अपना पासपोर्ट सरेंडर कर देना चाहिए, क्योंकि अमृतपाल ने कहा था कि वह खुद को भारतीय नागरिक नहीं मानते हैं।

सुनेहरा पंजाब पार्टी केसी सिंह ने कहा

सुनेहरा पंजाब पार्टी के प्रमुख केसी सिंह ने कहा कि अमृतपाल को शरणार्थियों के लिए संयुक्त राष्ट्र के उच्चायुक्त (यूएनएचसीआर) से एक स्टेटलेस व्यक्ति के रूप में अपनी पहचान प्राप्त करनी चाहिए क्योंकि ‘खालिस्तान केवल उनके दिमाग में मौजूद है.’। आपको बताते चले कि  अमृतपाल पिछले साल भारत लौटने और सिख उपदेशक बनने से पहले दुबई में एक ट्रांसपोर्ट कंपनी में काम कर रहा था। उन्होंने अभिनेता-कार्यकर्ता दीप सिद्धू द्वारा स्थापित एक सामाजिक संगठन ‘वारिस पंजाब दे’ के प्रमुख के रूप में पदभार संभाला था। जो एक घटना में पिछले सा मारे गए। पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने रविवार को कहा था कि खालिस्तान समर्थकों को पाकिस्तान और अन्य देशों से फंडिंग मिल रही है और राज्य पुलिस इस मुद्दे से निपटने में सक्षम है।

ये भी पढ़े:MP News: 250 स्कूली बसों की हुई जांच, 37 बसों में मिली कमियों पर लगा जुर्माना

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *