UP: मेडिकल सप्लाई कार्पोरेशन के गोदाम पर छापा, 16.40 करोड़ की EXPIRE दवाई बरामद

डिप्टी सीएम ने शुक्रवार को मेडिकल सप्लाई कार्पोरेशन Medicle Supply Corporation के गोदाम पर छापा मारा. इस दौरान उन्हें करोड़ों की एक्सापायर्ड दवाएं मिलीं. डिप्टी सीएम ने कहा, एक-एक पाई की वसूली अफसरों से कराऊंगा.

Share This News
brajesh pathak

brajesh pathak

UP यूपी के डिप्टी सीएम बृजेश पाठक Deputy CM Brajesh Pathak की मेडिकल एजेंसियों और अस्पतालों में ताबड़तोड़ छापेमारी जारी है. इसी कड़ी में डिप्टी सीएम ने शुक्रवार को मेडिकल सप्लाई कार्पोरेशन Medicle Supply Corporation के गोदाम पर छापा मारा. इस दौरान उन्हें करोड़ों की एक्सापायर्ड दवाएं मिलीं. डिप्टी सीएम ने कहा, एक-एक पाई की वसूली अफसरों से कराऊंगा.

16.40 करोड़ की एक्सपायर्ड दवा बरामद

बता दे कि, छापेमारी के दौरान 16.40 करोड़ की एक्सापायर्ड दवाएं मिलीं. ये करोड़ों की दवाएं अस्पतालों तक पहुंची ही नहीं है. मेडिकल कॉर्पोरेशन ने दवाएं अस्पताल नहीं भेजी. करोड़ों की दवाएं गोदाम में रखे-रखे एक्सपायर्ड हो गई.

डिप्टी सीएम ने दिए जांच के आदेश

छापेमारी के बाद डिप्टी सीएम ने तत्काल जांच के आदेश दिए हैं. डिप्टी सीएम ने मौके पर वीडियोग्राफी भी कराई है. डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक ने सरकारी गोदाम से सारे डॉक्यूमेंट जब्त कर लिए. जिसके बाद डिप्टी सीएम ने 3 दिन में जांच रिपोर्ट तलब की है. इसके लिए IAS अफसरों की एक जांच समिति का गठन किया है.

रिकॉर्डिंग और कागजात बरामद

जानकारी के लिए बता दे कि, स्वास्थ्य विभाग के एक सचिव को साथ लेकर ब्रजेश पाठक ने छापेमारी की है. मंत्री ने मौके पर बरामद सभी सबूत, रिकॉर्डिंग और कागजात जब्त कर लिए हैं. जनता के पैसे की बर्बादी पर ब्रजेश पाठक बिफर गए. उन्होंने कहा, एक-एक पाई की वसूली अफसरों से कराऊंगा. यह घोर अनियमितता है. इसके लिए किसी भी तरह की माफी संभव नहीं है.

डिप्टी सीएम ने कहा, जिन लोगों की जिम्मेदारी इस गोदाम से अस्पतालों तक दवाएं पहुंचाने की है, उन्हें शर्म आनी चाहिए. प्रदेश में गरीबों की संख्या कम नहीं है. राज्य सरकार उन्हें उपचार देने के लिए यह संसाधन मुहैया करवाती है. सरकारी अधिकारी इतनी घोर लापरवाही करने में लगे है.

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.