Chhattishgarh: पुरानी पेंशन योजना बहाल करने का फैसला, केन्द्र सरकार को लिखा पत्र

Chattishgarh छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल CM Bhupesh Baghel ने प्रदेश में पुरानी पेंशन योजना बहाल करने का फैसला लिया है. इस फैसले को लागू कराने के लिए वित्त सचिव ने PFRDA के चेयरमैन को पत्र लिखा है.

Share This News

Chattishgarh छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल CM Bhupesh Baghel ने प्रदेश में पुरानी पेंशन योजना बहाल करने का फैसला लिया है. इस फैसले को लागू कराने के लिए वित्त सचिव ने PFRDA के चेयरमैन को पत्र लिखा है.

केन्द्र को लिखा पत्र

उन्होंने पत्र में कहा है कि नवीन पेंशन स्कीम के तहत राज्य सरकार के योगदान की कुल राशि का वर्तमान बाजार मूल्य 17,240 करोड़ रुपए है. यह राशि छत्तीसगढ़ सरकार को शीघ्र लौटाई जाए. वित्त सचिव ने पेंशन फंड रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी PFRDA नई दिल्ली के चेयरमैन को अवगत कराया है कि, छत्तीसगढ़ सरकार ने हाल ही में एक नवंबर 2004 की पुरानी पेंशन योजना को बहाल करने का निर्णय लिया है. राज्य मंत्रिमंडल ने एक मई 2022 की अपनी बैठक में इस निर्णय को मंजूरी दे दी है.

राजपत्र में अधिसूचना प्रकाशित

इसके अलावा उन्होंने बताया कि, पुरानी पेंशन योजना की बहाली के लिए राज्य सरकार द्वारा राजपत्र में अधिसूचना प्रकाशित कर दी गई. कर्मचारियों के एनपीएस NPS खातों में नियोक्ता और कर्मचारी का मासिक अंशदान भी 1 अप्रैल 2022 से बंद कर दिया गया.

कर्मचारियों का GPF खाता खोला जाएगा

प्रदेश के वित्त सचिव ने पत्र में लिखा कि, एनपीएस NPS के साथ पंजीकृत प्रत्येक कर्मचारी के लिए एक नया जीपीएफ GPF खाता राज्य सरकार द्वारा खोला गया है. सरकारी कर्मचारियों के वेतन से मूल वेतन का न्यूनतम 12 प्रतिशत काटा जाएगा, जो कि सामान्य भविष्य निधि नियम के अनुसार सरकारी कर्मचारियों के निधि खातों में जमा होगा.

इसके अलावा, पिछले वित्तीय वर्ष की पेंशन देनदारियों के 4 प्रतिशत के बराबर राशि राज्य सरकार द्वारा प्रत्येक वित्तीय वर्ष में इस पेंशन फंड में निवेश की जाएगी. वित्त सचिव ने यह भी अवगत कराया है कि कर्मचारियों द्वारा उनके एनपीएस NPS खातों में योगदान की गई मूल राशि कर्मचारियों के छत्तीसगढ़ सामान्य भविष्य निधि खाते में स्थानांतरित कर दी जाएगी.

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.