Jharkhand: मानव तस्करी पर लगाम! गुमला जिले की 5 बच्चियों को दिल्ली में कराया मुक्त

झारखंड के सीएम हेमन्त सोरेन के प्रयास राज्य में रंग ला रहे है. सीएम के प्रयास से मानव तस्करी पर लगाम लग रही है. राज्य में मानव तस्करी के शिकार बालक/बालिकाओं को मुक्त कराकर घरों में पुनर्वास किया जा रहा है. इसी कड़ी में मानव तस्करी की शिकार गुमला जिले की पांच बच्चियों को दिल्ली से मुक्त कराया गया है.  

मानव तस्करी को लेकर संवेदनशील सरकार

गौरतलब है कि मानव तस्करी पर झारखंड सरकार और महिला एवं बाल विकास विभाग काफी संवेदनशील है. ऐसी घटनाओं पर त्वरित कार्रवाई उसी का नतीजा है. हाल में ही 9 फरवरी को IRRC द्वारा संचालित टोल फ्री नंबर 10582 पर गुप्त सूचना से यह पता चला था कि झारखंड की बच्चियों को मानव तस्करी कर दिल्ली में लाकर कार्य में लगाया जा रहा है.

उत्तम नगर से बच्चियों को कराया मुक्त

सूचना मिलते ही महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा संचालित एकीकृत पुनर्वास संसाधन केंद्र की टीम ने तुरंत उत्तम नगर थाना, दिल्ली से संपर्क स्थापित कर बच्चों का लोकेशन ट्रेस कर छापेमारी की और तकरीबन 3 घंटे की मशक्कत के बाद उन बच्चियों को एक मानव तस्कर के साथ किराए के मकान से  छुड़ाया गया. बाद में बच्चियों का मेडिकल कराकर CWC के समक्ष प्रस्तुत किया गया.

महिला एवं बाल विकास विभाग के निदेशक ए. डोडे ने सभी जिलों को सख्त निर्देश दिया है कि जिस भी जिले के बच्चों को दिल्ली में रेस्क्यू किया जाएगा, उस जिले के जिला समाज कल्याण पदाधिकारी एवं बाल संरक्षण पदाधिकारी द्वारा बच्चों को उनके मूल जिले में पुनर्वास किया जाएगा.

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.