AAP के लिए चुनाव सत्ता पाने का एक साधन नहीं, बल्कि देश में परिवर्तन लाने का एक जरिया: केजरीवाल

दिल्ली

नई दिल्ली: ‘आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक एवं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने डिजिटल माध्यम से पार्टी के देशभर के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि आम आदमी पार्टी के लिए चुनाव सत्ता पाने का एक साधन नहीं है, बल्कि देश और समाज में परिवर्तन लाने का एक जरिया है। हमारा मकसद एक पार्टी बदल कर दूसरी पार्टी सत्ता में लाना नहीं है, बल्कि भ्रष्ट व्यवस्था को उखाड़कर एक ईमानदार व्यवस्था लागू करना है। ‘आप’ की दिल्ली की सरकार ने देश के लोगों को यह उम्मीद दी है कि बदलाव संभव है और देश बदल तो सकता है।

हमें केवल पॉजिटिव प्रचार करने हैं, सबका दिल जीतना है और सबको गले लगाना है- केजरीवाल

‘आप’ संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हमारे सामने पूरा का पूरा भ्रष्ट तंत्र और बड़ी-बड़ी पार्टियां हैं। उनके पास अथाह पैसा है, लेकिन हमारे पास हमारा जूनून और हमारी देशभक्ति है। लोगों को बताएं कि दिल्ली में कैसे हमने बिजली, पानी, स्कूल, अस्पताल, सड़कें ठीक कर दिए और ‘आप’ की सरकार बनी तो उस राज्य में भी अच्छे काम करेंगे। आज सरकार का मतलब हो गया है कि मंत्रियों और विधायकों को सारी सुविधाएं फ्री में मिले और जनता दर-दर की ठोकर खाती रहे। हम सरकार की परिभाषा बदलेंगे। अब मंत्री और विधायक सेवा करेंगे और जनता को सारी सुविधाएं मिलेंगी।

सिर्फ पार्टियां बदलने से कुछ नहीं होगा, हमें पूरा का पूरा सिस्टम बदलना होगा- अरविंद केजरीवाल

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि चुनाव आयोग ने पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव की घोषणा कर दी है। आम आदमी पार्टी के लिए चुनाव सत्ता पाने का एक साधन नहीं हैं। हमारे लिए यह चुनाव एक पार्टी को बदल कर दूसरी पार्टी का शासन लाने का जरिया नहीं है। पार्टियां बदलने से कुछ नहीं होगा। पार्टियां बदलते-बदलते 70 साल हो गए। कुछ बदला? सब कुछ वैसे का वैसा है। हमें पूरा का पूरा सिस्टम बदलना होगा। आम आदमी पार्टी के लिए चुनाव देश और समाज में परिवर्तन करने का एक जरिया है।

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.