Coronavirus: गुजरात में मिला कोविड के नए वेरिएंट XE का एक मरीज, WHO ने जताई चिंता

New Variant XE

New Variant XE

नई दिल्लीः भारत में अब कोरोना वायरस के नए संक्रमण ने दस्तक दे दी है। मालूम हो कि गुजरात में कोविड के नए वेरिएंट XE के पहले मामले की पुष्टि हुई है। जबकि इससे पहले इस वेरिएंट का एक मामला मायानगरी मुंबई में भी देखने को मिला था। बताया जा रहा है कि कोरोना वायरस का यह नया रूप काफी संक्रामक है। ऐसे में सरकार भी पूरा ध्यान रख रही है। वहीं, गुजरात में पुष्टि किए गए मामले के संबंध में बताया गया है कि 13 मार्च को वह व्यक्ति कोविड पॉजिटिव निकला था।

जिसके एक सप्ताह बाद उसकी स्थिति ठीक थी। लेकिन जब सैंपल की रिपोर्ट आई तो वह व्यक्ति कोविड के XE वैरिएंट से संक्रमित निकला था। जानकारी के अनुसार यह ओमिक्रॉन (omicron) के BA.2 सब वैरिएंट की तुलना में करीब दस प्रतिशत ज्यादा संक्रामक प्रतीत होता है। मालूम हो कि कोरोना वायरस (corona virus) का नया वैरिएंट XE ओमिक्रॉन के दो वर्जन है जो BA.1 और BA.2 से मिलकर बना है। इस बीच अब तक XE वैरिएंट के दो मामले सामने आए हैं।

जिनमें कोई गंभीर लक्षण नहीं दिखे हैं। इसी वजह से सरकार अभी पैनिक नहीं करने की अपील कर रही है। उधर, जॉन्स हॉपकिन्स के गुप्ता-क्लिंस्की इंडिया इंस्टीट्यूट की ओर से आयोजित एक पैनल चर्चा में वायरोलॉजिस्ट गगनदीप कांग ने बताया कि वैरिएंट्स आएंगे क्योंकि लोग अब यात्रा कर रहे हैं। जितना हम XE वैरिएंट के बारे में जान पाए हैं, यह चिंता का विषय नहीं है. हम BA.2 के बारे में चिंतित थे।

सब वैरिएंट की तुलना में दस प्रतिशत ज्यादा संक्रामक

उन्होंने आगे कहा कि यह BA.1 से अधिक गंभीर नहीं निकला है। लेकिन XE वैरिएंट भी BA.1 या BA.2 (Omicron’s sub-variant) से ज्यादा गंभीर बीमारी का कारण नहीं बनता है। वैसे कुछ विशेषज्ञ यह जरूर कह रहे हैं कि कोविड19 का एक नया रूप भी देश में एक नई लहर ला सकता है। इतना ही नहीं, यह अमेरिका में नए कोविड-19 के मामलों के प्रसार के लिए जिम्मेदार है। यूके स्वास्थ्य सुरक्षा एजेंसी (यूकेएचएसए) के एक अध्ययन के मुताबिक फिलहाल तीन नए वेरिएंट प्रसारित हो रहे हैं। जिसमें एक्सडी, एक्सई और एक्सएफ शामिल है।

डब्ल्यूएचओ ने जताई चिंता

सूत्रों की माने तो XD डेल्टा ज्यादातर फ्रांस, डेनमार्क और बेल्जियम में पाया गया है। दूसरी ओर, इंपीरियल कॉलेज लंदन के वायरोलॉजिस्ट टॉम पीकॉक के अनुसार एक्सडी एक से ज्यादा देशों में फैल चुका है। जानकारी के अनुसार ओमिक्रॉन के BA.1 और BA.2 से मिलकर XE बना है और यह ब्रिटेन में पाया गया है। इसके सामुदायिक प्रसार के सबूत मिले हैं। जबकि XF ओमिक्रॉन के डेल्टा और BA.1 से बना है। जो ब्रिटेन में पाया गया था मगर 15 फरवरी के बाद से इसका पता नहीं चला है।

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.