सजा मिलने के बाद बोले लालू यादव- लड़ा हूं, लड़ता रहूंगा, हरा नहीं सकते…वो साजिशों में फंसा नहीं सकते

LALU PRASAD YADAV

बिहार के पूर्व सीएम लालू प्रसाद यादव Lalu Prasad Yadav को आज चारा घोटाला के पांचवें मामले में सजा मिली है. पूर्व सीएम को CBI की विशेष अदालत ने 5 साल की जेल और 60 लाख रुपये जुर्माने की सजा सुनाई है. इस पर अब लालू यादव ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि ‘साथ है जिसके जनता उसके हौंसले क्या तोड़ेगी सलाखें!

लालू यादव ने लिखी कविता

आपको बता दे कि, CBI कोर्ट द्वारा सजा के ऐलान के बाद लालू यादव ने अपने आधिकारिक फेसबुक पेज पर इसको लेकर प्रतिक्रिया दी है. लालू यादव ने कविता के अंदाज में बताया है कि वो जेल जाने से नहीं डरते हैं क्योंकि उनके साथ जनता है.

लालू यादव ने अपने फेसबुक पेज पर लिखा,

अन्याय असमानता से

तानाशाही जुल्मी सत्ता से

लड़ा हूं लड़ता रहूंगा

डाल कर आखों में आंखें

सच जिसकी ताकत है

साथ है जिसके जनता

उसके हौसले क्या तोड़ेगी सलाखें.

मैं उनसे लड़ता हूँ जो लोगों को आपस में लड़ाते है

वो हरा नहीं सकते इसलिए साजिशों से फँसाते है

ना डरा ना झुका, सदा लड़ा हूँ और लड़ता ही रहूँगा

लड़ाकों का संघर्ष कायरों को ना समझ आया है ना आएगा.

कविता के बाद लालू यादव ने लिखा है कि, ‘मैं उनसे लड़ता हूं जो लोगों को लड़ाते हैं’. लालू यादव ने ये लाइन बिहार की सत्ताधारी पार्टी के लिए लिखी है.

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.