Sourav Ganguly: कोहली से लेकर साहा तक, ‘दादा’ के कार्यकाल में दिखी विवादों की ‘दादागिरी’

पूरे विश्व में अपनी प्रतिभा का लोहा मनवा चुका भारतीय क्रिकेट एक बार फिर से विवादों में आया है और इसके केंद्र में भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड BCCI के अध्यक्ष सौरव गांगुली हैं. श्रीलंका सीरीज़ के लिए विकेटकीपर ऋद्धिमान साहा का चयन नहीं हुआ, जिसके बाद उन्होंने कई तरह की बात कहीं. इनमें सौरव गांगुली का जिक्र भी था, ये पहली बार नहीं है कि जब सौरव गांगुली के अध्यक्षीय कार्यकाल में BCCI इस तरह के विवादों में फंसा है.

Sourav Ganguly के खिलाफ कई बार खिलाड़ियों ने ही बागी तेवर अपनाया है, जिसमें नया नाम ऋद्धिमान साहा का है. जिन्हें श्रीलंका दौरे के लिए टेस्ट टीम में नहीं चुना गया है. इससे पहले सौरव गांगुली विराट कोहली की कप्तानी को लेकर विवादों में रहे हैं.

Wridhiman Saha: श्रीलंका टेस्ट सीरीज़ के लिए ऋषभ पंत के बाद दूसरे विकेटकीपर के तौर पर केएस. भरत को चुना गया. ऋद्धिमान साहा को जब शामिल नहीं किया गया, तब उन्होंने नाराज़गी जताई. साहा ने खुलासा किया कि राहुल द्रविड़ ने उन्हें साउथ अफ्रीकी दौरे के बाद इसका इशारा किया था, साथ ही संन्यास की सलाह भी दी थी.

ऋद्धिमान साहा का कहना है कि जब उन्होंने न्यूजीलैंड के खिलाफ 61 रनों की पारी खेली थी, तब सौरव गांगुली ने उन्हें मैसेज कर बधाई दी थी. साथ ही कहा था कि जब तक वह BCCI में हैं, तब तक वह चिंता नहीं करें. लेकिन पता नहीं इतनी जल्दी ऐसा बदलाव क्यों हो गया.

Virat Kohli: T-20 वर्ल्ड कप के दौरान भी एक विवाद हुआ था, जिसमें विराट कोहली और सौरव गांगुली आमने-सामने थे. विराट कोहली ने वर्ल्ड कप से पहले टी-20 फॉर्मेट से कप्तानी छोड़ने का ऐलान किया था, तब हर कोई सकते में आ गया था. इसके बाद सौरव गांगुली ने बयान दिया था कि उन्होंने निजी तौर पर कोहली से ऐसा नहीं करने के लिए कहा था, लेकिन कोहली ने उनकी बात नहीं मानी.

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.