Advertisement

Ayodhya : गोवा-नैनीताल नहीं, अयोध्या पर्यटकों को कर रहा आकर्षित, सभी होटल बुक

Ayodhya : गोवा-नैनीताल नहीं, अयोध्या पर्यटकों को कर रहा आकर्षित, 15 किमी के दायरे में सभी होटल बुक
Share
Advertisement

Ayodhya : रामलला की प्राण-प्रतिष्ठा की भक्ति में पूरा देश इस कदर सराबोर हो गया है कि लोग गोवा-नैनीताल जैसी जगहों को छोड़ अयोध्या जाने की तैयारी कर रहे हैं। होटल ऐप पर सर्च स्थानों में इन दिनों अयोध्या टॉप पर है। हर कोई 22 जनवरी की शुभ तिथि पर अयोध्या (Ayodhya) पहुंचना चाह रहा है। तभी अयोध्या के होटल में एक रात के लिए कमरे का किराया 70,000 रुपए तक पहुंच गया है। ईज माइ ट्रिप के सीईओ निशांत पिट्टी ने बताया कि प्राण प्रतिष्ठा समारोह के लिए अयोध्या के सभी होटल पूरी तरह से बुक हो चुके हैं।

Advertisement

रितेश अग्रवाल ने क्या बताया?

ओयो रूम्स के संस्थापक एवं सीईओ रितेश अग्रवाल ने अपने एक्स पर लिखा है कि भारतीय पर्यटक पवित्र जगहों पर जाना अधिक पसंद कर रहे हैं। होटल रूम के लिए सर्च में अयोध्या में 70 प्रतिशत की बढ़ोतरी है जबकि गोवा के लिए 50 प्रतिशत तो नैनीताल के लिए 60 प्रतिशत की बढ़ोतरी दिख रही है। अग्रवाल यह भी मानते हैं कि अगले पांच सालों में आध्यात्मिक पर्यटन से पर्यटन उद्योग को सबसे अधिक बढ़ावा मिलने वाला है।

22 जनवरी तो पर्यटन की झांकी है

पर्यटन प्रबंधन से जुड़ी कंपनियों का मानना है कि 22 जनवरी तो पर्यटन की झांकी है। असली भीड़ तो उसके बाद दिखेगी। टूरिज्म सेक्टर की कंपनी ईज माइ ट्रिप का अनुमान है कि 22 जनवरी के बाद रोजाना तीन से पांच लाख लोग रामलला के दर्शन के लिए वहां पहुंच सकते हैं। इतनी बड़ी संख्या में पर्यटकों के पहुंचने से पूरे इलाके की आर्थिक तस्वीर बदल जाएगी।

निशांत पिट्टी ने क्या बताया?

ईज माइ ट्रिप के सीईओ निशांत पिट्टी ने बताया कि प्राण प्रतिष्ठा समारोह के लिए अयोध्या के सभी होटल पूरी तरह से बुक हो चुके हैं। होटल की इतनी ज्यादा मांग है कि छोटे-छोटे होटलों के किराए में 80-100 प्रतिशत का इजाफा है। पिट्टी ने बताया कि कुछ चुनिंदा होटलों में तो एक रात का किराया 70,000 रुपए तक चला गया है।

यह भी पढ़ें – MP रणदीप सुरजेवाला ने प्राण-प्रतिष्ठा कार्यक्रम को लेकर BJP पर राजनीति करने का लगाया आरोप

Follow Us On : https://twitter.com/HindiKhabar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *