Corona Update: पिछले 24 घंटे में सामने आए कोरोना के 1,109 नए मामले, 43 की मौत

कोरोना वैक्सीनेशन

Today Corona Update

नई दिल्लीः पूरे दुनिया में फैले कोरोना वायरस का प्रसार अभी खत्म नहीं हुआ है। इस बीच कोविड के केसों में गिरावट आई है, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि कोविड संक्रमण (covid virus) पूरी तरह खत्म हो गया है। वहीं कोरोना वायरस के (covid19) का एक नया म्यूटेंट मिला है। जिसे XE के नाम से जाना जाता है। आपको बता दें कि देश में पिछले 24 घंटों में कोविड के 1,109 नए मामले सामने आए हैं। इसके अलावा कोरोना से 43 लोगों की मृत्यु हुई है।

जिसके बाद इस महामारी (covid virus) से जान गंवाने वालों की संख्या बढ़कर 5 लाख 21 हजार 573 हो गई है। जबकि एक हाजर 213 लोग रिकवरी भी हो चुके हैं। वहीं आंकड़ों के मुताबिक देशभर में कोविड वैक्सीन (covid vaccine) की करीब 185 करोड़ 38 लाख से ज्यादा डोज दी जा चुकी हैं। जिसके बाद राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान के तहत अभी तक कोरोना वायरस रोधी टीकों (Corona Vaccine) की करीब 185 करोड़ 38 लाख 88 हजार 663 खुराक दी जा चुकी हैं।

इस बीच देश में सक्रिय मामलों (active cases) का आंकड़ा करीब 11,492 है। वहीं, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय (Union Health Ministry) की ओर से जारी ताजी अपडेट के मुताबिक राज्यों और केंद्र शासित राज्यों को 185.53 करोड़ से अधिक कोविड डोज़ (covid dose) की खुराक दी गई। जबकि राज्यों और केंद्र शासित राज्य क्षेत्रों के पास अभी भी 15.70 करोड़ से ज्यादा की डोज़ उपलब्ध हैं।

कोविड-19 का मिला नया स्ट्रेन

कोरोना वायरस के नए वेरिएंट XE (Corona XE Variant) और कप्पा के एक-एक केस मुंबई में मिले हैं। भारत में इस नए वेरिएंट का यह पहला मामला सामने आया है। मालूम हो कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के मुताबिक कोरोना वायरस का एक नया म्यूटेंट मिला है। जिसे XE के नाम से जाना जाता है। बताया जा रहा है यह ओमिक्रॉन के BA.2 सब वैरिएंट की तुलना में करीब दस प्रतिशत ज्यादा संक्रामक प्रतीत होता है।

कोरोना वायरस का नया वैरिएंट XE ओमिक्रॉन के दो वर्जन है जो BA.1 और BA.2 से मिलकर बना है। एक्सई रीकॉम्बिनेंट (बीए.1-बीए.2), पहली बार 19 जनवरी को यूके में पाया गया था। तब से 600 से कम अनुक्रमों की रिपोर्ट और पुष्टि की गई है। डब्ल्यूएचओ का कहना है कि शुरुआती अनुमान के मुताबिक, बीए.2 की तुलना में यह नया सब-वैरिएंट 10 प्रतिशत अधिक संक्रामक है। हालांकि इस दावे को और पुष्टि की आवश्यकता है।

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.