बीजेपी नेता मिथुन चक्रवर्ती का बड़ा दावा, कहा- ‘तृणमूल के 21 नेता अब भी मेरे संपर्क में’

उन्होंने कहा, “मुझे पता है कि पार्टी में आपत्तियां हैं, कई लोगों ने कहा है कि हम सड़े हुए आलू नहीं लेंगे। मैंने कहा है कि मैं इतना भरा नहीं हूं और मैं वही गलती नहीं दोहराऊंगा।”

Share This News

भाजपा नेता और अभिनेता मिथुन चक्रवर्ती ने एक बार फिर दावा किया कि सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के 21 विधायक उनके साथ सीधे संपर्क में हैं। कोलकाता में बीजेपी कार्यालय में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए मिथुन चक्रवर्ती ने कहा, “21 टीएमसी विधायक अभी भी मेरे संपर्क में हैं, मैंने यह पहले भी कहा था और फिर कह रहा हूं, मैं अपनी बात पर कायम हूं। बस समय का इंतजार करें।”

अभिनेता से नेता बने मिथुन दा ने कहा कि उन्हें पता है कि तृणमूल नेताओं को लेने पर पार्टी के भीतर आपत्ति है।

उन्होंने कहा, “मुझे पता है कि पार्टी में आपत्तियां हैं, कई लोगों ने कहा है कि हम सड़े हुए आलू नहीं लेंगे। मैंने कहा है कि मैं इतना भरा नहीं हूं और मैं वही गलती नहीं दोहराऊंगा।”

शनिवार को दुर्गा पूजा से पहले मिथुन चक्रवर्ती भाजपा नेताओं के साथ बैठक करने शहर में थे। मीडियाकर्मियों से बातचीत के दौरान उनसे सवाल किया गया कि क्या भाजपा में शामिल होने के लिए टीएमसी के इच्छुक विधायकों की संख्या बढ़ी है। चक्रवर्ती ने कहा, “मैं आपको सटीक संख्या नहीं बताऊंगा, लेकिन यह कह सकता हूं कि संख्या 21 से कम नहीं है।”

मिथुन चक्रवर्ती ने सीबीआई और ईडी के दुरुपयोग पर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के हालिया बयान पर भी टिप्पणी की। ममता बनर्जी ने कहा था कि उन्हें नहीं लगता कि केंद्रीय एजेंसियों के दुरुपयोग के पीछे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का हाथ है।

पश्चिम बंगाल के सीएम की टिप्पणी के बारे में पूछे जाने पर मिथुन चक्रवर्ती ने जवाब दिया, “हां, मुझे लगता है कि वह सही है। वास्तव में, पीएम ऐसा नहीं कर रहे है, कोर्ट ने फैसला दिया है। हम क्या कर सकते हैं? आपको (ममता बनर्जी को) यह बताना होगा कि बीजेपी बंगाल ब्रिगेड ने आपके साथ क्या गलत किया है। मैंने यह पहले भी कहा था, अगर आपने कुछ गलत नहीं किया है, अगर आप साफ है, घर जा सकते हैं और चैन से सो सकते है, कुछ नहीं होगा। लेकिन अगर कोई सबूत है तो प्रधानमंत्री या राष्ट्रपति भी आपको नहीं बचा सकते।

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *